Home » बॉलीवुड » kangana ranaut bmc issues notice to manish malhotra
 

कंगना रनौत के बाद मनीष मल्होत्रा पर टिकी अब बीएमसी की नजर, भेजा नोटिस

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 September 2020, 14:30 IST

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत kangana Ranaut का बुधवार को बीएमसी ने दफ्तर पर अवैध निर्माण को तोड़ दिया है. जिसके बाद अब बीएमसी का अगला निशाना फैशन डिजाइनर मनीष मल्होत्रा के ऑफिस पर है. बीएमसी ने मनीष मल्होत्रा को अंडर सेक्शन 351 यानी अनधिकृत परिवर्तन करने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

फैशन डिजाइनर को बीएमसी ने सात दिन की मोहलत दी है और उनसे जवाब मांगा है. मनीष ने हाल ही में अपने ऑफिस के फर्स्ट फ्लोर में कुछ बदलाव कराए थे जिसके संदर्भ में बीएमसी ने उन्हें नोटिस भेजा है.


दरअसल बीएमसी ने बुधवार को कंगना रनौत के ऑफिस में अवैध निर्माण का तोड़फोड़ किया. ये तोड़फोड़ कंगना की गैरमौजूदगी में हुआ. हालांकि कार्रवाई करने से कुछ वक्त पहले बीएमसी ने कंगना के ऑफिस की दीवार पर नोटिस चिपकाया और अवैध निर्माण की बात कही थी लेकिन इससे पहले की कंगना ऑफिस पहुंचती उन्होंने ऑफिस में तोड़फोड़ कर दी.हालांकि राहत की बात ये रही ही बॉम्बे हाईकार्ट ने इस पर रोक लगा दी.

कंगना के सपोर्ट में उतरे अनुपम खेर, बोले- 'मुंबई के जमीर पर हुआ है प्रहार'

बीएमसी का मानना है कि कंगना के ऑफिस में अलग तरह से पार्टिशन किया गया है. कहा जा रहा है कि बालकनी एरिया को कमरे की तरह इस्तेमाल किया गया है. बीएमसी का कहना है कि ऑफिस निर्माण के नियमों का उल्लंघन किया गया है.

बताते चलें कि कंगना रनौत ने एक वीडियो जारी कर महाराष्ट्र सरकार को जवाब दिया था. कंगना ने अपने वीडियो में कहा था , ' उद्वर ठाकरे Uddhav Thackeray तुझे क्या लगता है? कि तूने फिल्म माफिया के साथ मिलकर मेरा घर तोड़कर मुझसे बहुत बड़ा बदला लिया है ? आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा. ये वक्त का पहिया है, याद रखना, हमेशा एक जैसा नहीं रहता. '

कंगना ने अपने वीडियो में कहा था, '... और मुझे लगता है कि तुमने मुझकर बहुत बड़ा एहसान किया है. क्योंकि मुझे पता तो था कि कश्मीरी पंडितों पर क्या बीती होगी. आज मैंने महसूस किया है और आज मैं इस देश को वचन देती हूं कि मैं सिर्फ अयोध्या पर ही नहीं, कश्मीर पर भी एक फिल्म बनाऊंगी. और अपने देशवासियों को जगाऊंगी. '

शिवसेना को कंगना रनौत ने बताया सोनिया सेना, बोले- संविधान का इतना बड़ा अपमान मत करो

First published: 10 September 2020, 14:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी