Home » बॉलीवुड » No acceptance without talent Soundarya on nepotism
 

कंगना के बयान पर बोलीं रजनीकांत की बेटी सौंदर्या- 'स्टार के बच्चों पर ज़्यादा दबाव'

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 July 2017, 13:38 IST

आगामी फिल्म 'वीआईपी-2 ललकार' में धनुष को निर्देशित करने वाली फिल्मकार सौंदर्या रजनीकांत का कहना है कि फिल्मी परिवार और पृष्ठभूमि से ताल्लुक रखने पर भी प्रतिभा मायने रखती है. फिल्मी दुनिया में परिवारवाद आजकल सुर्खियों में बना हुआ है.

सुपरस्टार रजनीकांत की बेटी ने इस बारे में पूछे जाने पर कहा, "आखिरकार प्रतिभा ही टिके रहने वाली है और यही आपकी आवाज बनेगी. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस परिवार या पृष्ठभूमि से आते हैं, अगर आपमें प्रतिभा नहीं हो तो लोग आपको स्वीकार नहीं करेंगे." सौंदर्या का मानना है कि बड़े सितारों के बच्चों पर खुद को साबित करने का ज्यादा दबाव होता है.

उन्होंने कहा, "स्टार के बच्चों पर ज्यादा दबाव होता है, क्योंकि उनसे काफी उम्मीदें होती हैं और अगर हम अच्छा नहीं कर पाते तो वापसी करना मुश्किल होता है." फिल्मकार ने कहा कि आखिरकार प्रतिभा और योग्यता की ही अहमियत होती है.

सौंदर्या के मुताबिक, "मुझे लगता है कि आखिरकार सिर्फ प्रतिभा ही मायने रखती है और अगर यह आपके पास है तो फिर आप किसी भी पृष्ठभूमि से आने पर यहां टिक सकते हैं." 'वीआईपी-2' फिल्म 'वीआईपी' का सीक्वल है. कलाइपुली एस. थानु निर्देशित फिल्म में काजोल, अमाला पॉल, विवेक सरान्या और समुथिरकानी जैसे कलाकार भी हैं.

First published: 25 July 2017, 13:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी