Home » बॉलीवुड » padmavati release election commission rejects the bjp requests ban on padmavati due to poll
 

बीजेपी की मांग को चुनाव अायोग ने किया खारिज, 1 दिसंबर को पधारेंगी 'पद्मावती'...

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 November 2017, 9:29 IST

भाजपा की प्रदेश इकाई ने चुनाव आयोग को एक पत्र लिखकर गुजरात में विधानसभा चुनाव के चलते फिल्म पद्मावती की रिलीज पर रोक लगाए जाने की मांग की थी.

टीवी रिपोर्ट्स के अनुसार, चुनाव आयोग ने संजय लीला भंसाली की इस फिल्म पर बैन लगाने या इसकी रिलीज को आगे बढ़ाने से इंकार किया है. गुजरात के प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष आईके जडेजा ने मीडिया को बताया था कि गुजरात के 15-16 जिलों के राजपूत समाज ने पार्टी से इस फिल्म को बैन कराए जाने की मांग की थी.

उनका कहना था कि फिल्म में कर्इ ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की गई है, इसलिए उन्होंने फिल्म पर बैन की मांग की. ये फिल्म एक दिसंबर को रिलीज हो रही है.

भंसाली की इस फिल्म का विरोध राजस्थान और गुजरात में हो रहा है. पहले भी शूटिंग के दौरान पद्मावती विरेाध का सामना कर चुकी है. भंसाली की फिल्म पर सवाल उठाते हुए जडेजा ने कहा, पार्टी के राजपूत नेताओं को फिल्म दिखानी चाहिए. राजपूत समाज से अप्रूवल के बिना इसे रिलीज करने से हिंसा भड़क सकती है.

आपको बता दें कि दीपिका पादुकोण की ‘पद्मावती’ की मुश्किलें थमने का नाम ही नहीं ले रही हैं. अब एक और संगठन ने फिल्म का विरोध जताया है और इस विरोध को लेकर वे कई संजय लीला भंसाली से लेकर महाराष्ट्र के मुख्यममंत्री देंवेंद्र फडणवीस तक से मिल चुका है.

राजपूत समाज के सामाजिक संगठन अखंड राजपूताना सेवासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष आर पी सिंह के नेतृत्व में शुक्रवार को एक प्रतिनिधमंडल ने सेंसर बोर्ड के सीईओ अनुराग श्रीवास्तव से मुलाकात कर फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर विरोध पत्र सौंपा है.

First published: 4 November 2017, 9:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी