Home » बॉलीवुड » Padmavati row diretor Anurag Kashyap condemns Rajput protest
 

'भंसाली के साथ खड़ा हूं लेकिन मेरे बोलने से पद्मावती रिलीज नहीं होगी'

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 December 2017, 16:01 IST

पद्मावती फिल्म को लेकर इन दिनों विरोध प्रदर्शन की आग पूरे देश में जंगल की तरह फैली है. इस विवाद में फिल्म जगत से लेकर राजनीतिज्ञ भी अपनी उपस्थिति रोजाना दर्ज करा रहे हैं. हाल ही में उड़ता पंजाब फिल्म को लेकर विरोध झेल चुके अनुराग कश्यप से पद्मावती पर राय पूछी गर्इ.

अनुराग कश्यप ने कहा, "इंडस्ट्री में मैं ही नहीं पूरी बाॅलीवुड इंडस्ट्री भंसाली के साथ है. हां, लोग चुप हैं तो उसकी वजह मीडिया है, जिसने कर्इ संस्थाआें को फुटेज देकर डर का माहौल बना दिया है.

अनुराग कश्यप से जब पूछा गया कि क्या फिल्म पद्मावती के विवादों में घिरने के बाद भंसाली से बात की तो उन्होंने कहा, "सीधाी सी बात है मेरे बोलने से या फिर अपनी राय रखने से फिल्म रिलीज नहीं होगी. साथ ही मैं संजय लीला भंसाली को और विवादों में नहीं डालना चाहता."

पद्मावती पर हाल ही में एक टीवी प्रोग्राम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से भी पूछा गया था, जिसके जवाब में उन्होंने कहा कि फिल्म को लेकर हो रहे प्रदर्शनों और धमकियों के लिए संजय लीला भंसाली भी समान रूप से जिम्मेदार हैं, जो जनभावनाओं से खिलवाड़ करने के आदी बन चुके हैं. पद्मावती का चरित्र अगर वास्तविकता नहीं एक काल्पनिक है तो भी इसे एक आदर्श के रूप में देखा जाता है, ऐसे में ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ कर इस पर विवादित फिल्म बनाने का क्या आैचित्य है.

पिछले दिनों संसदीय समिति की बैठक के दौरान लाल कृष्ण आडवाणी ने भंसाली के समर्थन में कहा था, "संसदीय कमेटी के सदस्य क्यों केवल सेंसर बोर्ड को ही ये फैसला करने दें कि इस फिल्म की भारत में स्क्रीनिंग होनी चाहिए या नहीं. सीबीएफसी को अपना काम करने देना चाहिए.”

आपको बता दें पद्मावती संजय लीला भंसाली का ड्रीम प्रोजेक्ट है. जिसका एक गाना घूमर रिलीज होने के साथ विवादों के घेरे में भी आ चुका है. इस गाने पर सपा पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह की बहू ने भी अपने पारिवारिक कार्यक्रम में डांस करने के साथ विरोध प्रदर्शन को हवा दे दी थी.

First published: 2 December 2017, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी