Home » बॉलीवुड » 'Period' director Raika Zahatabati on winning oscar: 'Not crying as I'm on my periods but...'
 

'पीरियड' पर आधारित फिल्म ने जीता ऑस्कर तो डायरेक्टर ने कहा, मेरी माहवारी चल रही है इसलिए नहीं रो रही हूं बल्कि...

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 February 2019, 13:10 IST
Period end of sentence

भारतीय सिनेमा से पीरियड पर बेस्ट शॉर्ट फिल्म 'पीरियड: द एंड ऑफ सेंटेंस' ऑस्कर के लिए चुनी गई है और ये बहुत ही गर्व की बात है. भारतीय सिनेमा में अक्सर समाज का आईना दिखाने वाली फिल्में बनाई जाती है और उसमें से ये फिल्म एक है. फिल्म डायरेक्टर रायका की खुशी का ठिकाना उस वक्त नहीं रहा जब पांच फिल्मों के नॉमिनेशन के साथ 'पीरियड: द एंड ऑफ सेंटेंस' को भी चुना गया और उसके बाद उसे ऑस्कर के लिए भी बुलाया गया. इस खास मौके पर डायरेक्टर रायका ने एक ऐसी बात कही जिसे सुनकर वहां बैठे सभी लोगों ने पूरे माहौल को तालियों के गूंज से भर दिया.

 

जब ऑस्कर के लिए फिल्म 'पीरियड: द एंड ऑफ सेंटेंस' को चुना गया और रायका इसके लिए अवॉर्ड लेने स्टेज पर पहुंची तो उऩ्होंने कहा,"मैं इसलिए नहीं रो रही हूं कि मेरा माहवारी चल रहा या कुछ भी. मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि माहवारी को लेकर बनी कोई फिल्म ऑस्कर जीत सकती है." 

बता दें कि इस फिल्म का डायेरक्शन रायका जेहताबची ने किया है और इसे प्रोड्यूस गुनीत मोंगा ने. ये फिल्म एक शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री है और ये ऑकवुड स्कूल इन लॉस एंजिलिस के छात्रों और उनकी टीचर मिलिसा बर्टन द्वारा शुरु किए 'द पै़ड' प्रोजेक्ट का हिस्सा है. फिल्म 'पीरियडः एंड ऑफ सेंटेंस' की टक्कर फिल्म 'ब्लैक शिप','एंड गेम','लाइफबोट' और 'ए नाइट एट द गार्डन' जैसी शॉर्ट फिल्मों से था. जिसमें से फिल्म 'पीरियडः एंड ऑफ सेंटेंस' को ऑस्कर अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट किया गया.

पीरियडः एंड ऑफ सेंटेंस' बनी ऑस्कर में चुनी जाने वाली पहली भारतीय शॉर्ट फिल्म

First published: 25 February 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी