Home » बॉलीवुड » Salman Khan gets jail in Blackbuck poaching case because he is a minority says Pakistan Foreign Minister Khawaja Asif
 

सलमान को मुसलमान होने की वजह से मिली कड़ी सजा- पाकिस्तान के विदेश मंत्री

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 April 2018, 22:34 IST
(Geo Twitter account)

काले हिरण के शिकार के मामले में सलमान खान को जोधपुर कोर्ट द्वारा पांच साल की सजा सुनाए जाने पर पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंनें पाकिस्तान के जियो न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि सलमान को खान को कड़ी सजा सुनाई गई है.

ख्वाजा आसिफ ने सलमान को सजा सुनाए जाने को पक्षपाती निर्णय कहा है. उन्होंने जियो न्यूज के कार्यक्रम 'केपिटल टॉक' में वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर से बातचीत में ये बयान दिया. उन्होंने इस फैसले पर कमेंट करते हुए कहा, " सलमान खान को ये सजा अल्पसंख्यक होने की वजह से मिली है.. 20 साल पुराने मामले में उन्हें ये सजा सुनाई गई है, जबकि भारत में मुस्लिम, दलितों और ईसाइयों की जिंदगी का कोई मोल नहीं है.

आसिफ ने आगे कहा," सलमान खान अगर सत्ताधारी पार्टी के धर्म से संबंध रखते तो शायद उन्हें इतनी कड़ा सजा नहीं मिलती. कोर्ट ने उनके साथ दयालुता दिखानी चाहिए थी."

गौरतलब है कि सलमान खान को जोधपुर कोर्ट ने काले हिरण के शिकार मामले में दोषी पाया था. 20 साल पुराने मामले में कोर्ट ने उनके साथियों को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया. जिन लोगों को इस केस में रिहा किया उनमें सैफ अली खान, नीलम, सोनाली सोनाली बेंद्रे, तब्बु और दुष्यंत सिंह को बरी कर दिया था. 

इस मामले में पिछले महीने 28 मार्च को जोधपुर सीजेएम देव कुमार खत्री की कोर्ट में सुनवाई हुई थी. इसके बाद जज ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था और लंबी बहस के बाद सलमान खान को दोषी मानते हुए गुरुवार दोपहर को 5 साल की सजा और 10 हजार जुर्माना ठोका.

सलमान खान को सजा सुनाए जाने के बाद जोधपुर के सेंट्रल कोर्ट मे रखा गया है. उन्हें जिस बैरक में रखा गया है वहां आसाराम का भी बैरक है. आसाराम नाबालिग बच्ची से रेप के दोषी है. सलमान खान की जमानत याचिका पर कल जोधपुर के सेशन कोर्ट में सुनवाई होगी. जिसके बाद साफ हो पाएगा कि वो आगे जेल में रहेंगे या उन्हें बड़ी राहत मिलेगी.

ये भी पढ़ें- काले हिरण में क्या है ऐसा खास, जिसने सलमान को सलाखों के पीछे भेज दिया

First published: 5 April 2018, 22:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी