Home » बॉलीवुड » Veteran actress-activist Shabana Azmi says Marriage Not Made In Heaven in Islam, It's a Contract.
 

मुस्लिम समाज में होने वाले निकाह को लेकर शबाना आज़मी ने किया ये ट्वीट

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 August 2017, 13:12 IST

प्रसिद्ध अभिनेत्री शबाना आजमी का मानना है कि इस्लाम में जन्नत में निकाह तय नहीं होते, बल्कि यह तो एक अनुबंध की तरह होता है. उत्तर प्रदेश के मदरसों में तलाक के सही तरीके सिखाने के लिए लेख साझा करते हुए शबाना ने मंगलवार को ट्विटर पर लिखा,

"इस्लाम में निकाह कोई जन्नत में तय नहीं होता. यह एक अनुबंध है. हमें एक आदर्श 'निकाहनामा' की जरूरत है, जो सच्चे मन से तैयार किया गया अनुबंध हो."

लेखक-गीतकार जावेद अख्तर की पत्नी शबाना हमेशा से सामाजिक मुद्दों पर मुखर रही हैं. पिछले सप्ताह उन्होंने तीन तलाक पर उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए कहा था कि यह निर्णय देश में बहादुर मुस्लिम महिलाओं की जीत है.

शबाना  मिजवान वेलफेयर सोसाइटी नामक एनजीओ भी चलाती हैं. इसकी शुरुआत कैफी आजमी ने की थी. एनजीओ की शुरुआत महिलाओं के लिए रोजगार का अवसर शुरू करने और चिकनकारी कढ़ाई की कला को पुनर्जीवित करने के उद्देश्य से शुरू हुई.

First published: 30 August 2017, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी