Home » बॉलीवुड » Shah Rukh Khan says Nepotism does not exist in Bollywood during interview over his upcoming movie Jab Harry Met Sejal with Anushka Sharma, S
 

'नेपोटिज्म' को लेकर बॉलीवुड में चल रही बहस पर शाहरुख़ का बड़ा बयान

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 August 2017, 17:37 IST

हिदी सिनेप्रेमियों के लिए रोमांस का पर्याय बन चुके 'किंग ऑफ रोमांस' शाहरुख खान आजकल भाई-भतीजावाद (नेपोटिज्म) पर छिड़ी बहस का जिक्र करने पर वह कहते हैं कि यह उनकी समझ से परे है.

उन्होंने दो टूक कहा, "मुझे यह कांसेप्ट बिल्कुल समझ नहीं आता और यह भी कि इस पर इतना विवाद क्यों हो रहा है. मेरे भी बच्चे हैं, वे जो बनना चाहते हैं, बनेंगे और जाहिर है कि मैं इसमें उनके साथ हूं और रहूंगा."

इंडस्ट्री में बीते 25 वर्षो का अनुभव साझा करते हुए शाहरुख आईएएनएस से कहते हैं, "मैं शोऑफ में यकीन नहीं रखता. मैंने इन 25 वर्षो में जो कुछ हासिल किया है, मुझे नहीं लगता कि इतनी शोहरत बटोरने की कोई ख्वाबों में भी सोच सकता है. छोटी सी चाहत लेकर काम करना शुरू किया था, लेकिन एक दिन पता चला कि यह चाहत मेरी सोच से ज्यादा बढ़ गई है. शाहरुख से 'द शाहरुख' कब बन गया, पता ही नहीं चला. इन सालों में मेरे साथ ऐसी कई चीजें भी हुई हैं, जिनका मैं हकदार भी नहीं हूं, लेकिन उसका श्रेय भी मुझे मिलता रहा है."

फिल्म 'जब हैरी मेट सेजल' के प्रचार के लिए नई दिल्ली पहुंचे शाहरुख ने आईएएनएस के साथ विशेष बातचीत में अपने 'किंग ऑफ रोमांस' बनने की पूरी कहानी बताई. उन्होंने कहा, "मुझे जब पहली बार रोमांटिक फिल्म ऑफर हुई थी तो मुझे लगा था कि ये मुझसे क्या कराया जा रहा है. मैं एक्शन फिल्में करना चाहता था, लेकिन आदित्य, करण और यश चोपड़ा सरीखे निर्देशकों ने मुझसे रोमांस कराया और कब ये टैग मुझसे जुड़ गया, पता ही नहीं चला."

शाहरुख कहते हैं, "मैंने रोमांस ब्रांड को बेचा नहीं है, बल्कि उस भावना को खूबसूरती से पर्दे पर उतारा है, क्योंकि उम्र के साथ प्यार की परिभाषा नहीं बदलती, बल्कि उस अहसास में बदलाव आ जाता है".

गौरतलब है कि टीवी शो 'कॉफी विद करण' में कंगना रनौत के नेपोटिज्म वाले बयान से शुरू हुए विवाद के तूल पकड़ने का जिक्र करने पर शाहरुख ने कहा, "सच बताऊं.. मुझे यह शब्द समझ नहीं आता और यह भी कि इस पर बेवजह का बवाल क्यों मचा है? मैं दिल्ली का लौंडा हूं. यहां से मुंबई गया, लोगों का प्यार मिला और कुछ बना. मैं चाहता हूं कि मेरे बच्चे भी खुद अपने बूते पर नाम कमाएं. वह अभिनेता बनना चाहेंगे, तो उन्हें पूरी छूट है. मैं इस कांसेप्ट को ही समझना नहीं चाहता हूं."

First published: 3 August 2017, 17:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी