Home » बॉलीवुड » Sridevi Funeral : RTI reports why sridevi gets state funeral
 

श्रीदेवी को राजकीय सम्मान देने के विवाद में अब हुआ खुलासा

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 March 2018, 11:54 IST

बॉलीवुड की मशहूर अदाकारा और 'चांदनी' तो खो चुकी है. अब बची है कुछ बातें और कुछ यादें जो श्रीदेवी पीछे छोड़ कर चली गई है. लेकिन यहां श्रीदेवी के निधन के 1 महीने बाद भी उनके फ्यूनरल को लेकर विवाद चल रहा है जो खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है.

दरअसल, कुछ लोगों को इस बात से परेशानी थी कि आखिर क्यों श्रीदेवी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ हुआ. इतना ही नहीं इस मामले में एक आरटीआई भी दायर की गई थी. जिससे इस बात का खुलासा हो गया है. 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के कार्यालय के निर्देश पर बॉलीवुड की अदाकारा श्रीदेवी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया था. आरटीआई आवेदन के जवाब में यह जानकारी सामने आई है. तो वहीं मुंबई के आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने आरटीआई आवेदन जारी किया था.

ये भी पढें- फिर बड़े परदे पर दिखेंगी 'श्रीदेवी', 'हवा-हवाई' के किरदार में होगी ये एक्ट्रेस

आवेदन के जवाब में राज्य के सामान्य प्रशासन विभाग ने कहा कि किसी व्यक्ति का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार करने की अनुमति देने की शक्ति मुख्यमंत्री के पास होती है. हालांकि ये विवाद राज ठाकरे के सवाल से उठा था कि जब श्रीदेवी का निधन शराब पीकर बाथटब में डूबने से हुई है तो आप ऐसे व्यक्ति को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कैसे दे सकते हैं.

बता दें कि 24 फरवरी को श्रीदेवी का दुबई में निधन हो गया था. उनकी मौत शराब पीने के बाद बाथटब में डूबने से हुई थी. उनकी मौत पर कई दिनों तक सस्पेंस चलता रहा. पहले ये खबर थी कि उनका निधन कार्डिक अरेस्ट से हुआ है. लेकिन बाद में ये बात गलत साबित हुई.

श्रीदेवी ने कुल 300 फ़िल्मों में काम किया. इसमें से 72 हिंदी फिल्मों के अलावा तमिल और मलयालम भाषा में भी काम किया था. मशहूर अदाकारा श्रीदेवी का निधन 24 फरवरी की रात अचानक दिल का दौरा पड़ने से हुआ था. उस समय वह अपने पति बोनी कपूर और छोटी बेटी ख़ुशी कपूर के साथ एक पारिवारिक विवाह में शामिल होने के लिए गयी थी. यह खबर सुनते ही सभी सकते में आ गए थे.

ये भी पढें- Video: 'श्रीदेवी की मौत पर उत्तर भारतीयों ने दक्षिण भारतीयोंं से ज्यादा बहाए आंसू'

First published: 31 March 2018, 10:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी