Home » बॉलीवुड » suchitra sen Birthday Special: suchitra sen first actress who gets award in international level
 

इस एक्ट्रेस ने ठुकराया था कई बड़े कलाकारों के साथ काम करने का मौका

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 April 2018, 10:12 IST

बॉलीवुड की दुनिया में मशहूर अदाकाराओं के बीच सुचित्रा सेन का नाम शुमार था. सर्वश्रेष्ठ फिल्म एक्ट्रेस के पुरस्कार से सम्मानित सुचित्रा सेन का आज जन्मदिन है. इस मशहूर अभिनेत्री का जन्म 6 अप्रैल 1931 को हुआ था. सुचित्रा सेन भले ही आज हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उन्हें आज भी भारतीय सिनेमा में एक ऐसी एक्ट्रेस के रूप में याद किया जाता है जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी अलग पहचान बनाई थी.

 

सुचित्रा सेन ने साल 1952 में बंग्ला फिल्म 'शेष कोथा' से अपनी फिल्मी करियर की शुरूआत की थी लेकिन कुछ कारणों की वजह से ये फिल्म रिलीज नही हों सकी थी. उसके बाद सुचित्रा ने अपनी पहली फिल्म 'सारे चतुर' में अदाकारी की और इस फिल्म में लोगों को सुचित्रा की अदाकारी काफी पसंद आई थी.

ये भी पढ़ें- आसाराम के साथ बैरक में रहेंगे सलमान, जान से मारने की धमकी देने वाला गैंगस्टर भी यहीं है कैद

इस फिल्म के बाद सुचित्रा सेन के पास फिल्मों के कई ऑफर आने लगे. साल 1963 में सुचित्रा सेन की एक और सुपरहिट फिल्म 'सात पाके बांधा' रिलीज हुई. इस फिल्म के लिए सुचित्रा को मास्को फिल्म फेस्टिवल में सर्वश्रेष्ठ फिल्म एक्ट्रेस के पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. यह फिल्म इंडस्ट्री के इतिहास में पहला मौका था जब किसी भारतीय एक्ट्रेस को विदेश में पुरस्कार मिला था. बाद में इसी कहानी पर 1974 में हिंदी में 'कोरा कागज' बनीं जिसमें सुचित्रा सेन का किरदार जया बच्चन ने अदा किया था.

ये भी पढ़ें- दीपिका ने अपनी शादी को लेकर कही ये बड़ी बात, जानकर दंग रह जाएंगे आप

उसके बाद हिंदी सिनेमा में सुचित्रा सेन ने कदम रखा और 'देवदास' फिल्म से शुरूआत की ये फिल्म साल 1955 में रिलीज हुई थी. इस फिल्म में सुचित्रा ने पारो को रोल अदा किया था. इसके बाद आई फिल्म 'आंधी' में भी सुचित्रा सेन ने एक अलग ही छाप छोड़ दी थी. सुचित्रा ने अपने फिल्मी करियर में कई अवॉर्ड ठुकराने के साथ कई बड़े अभिनेताओं के साथ काम करने से भी मना कर दिया था.

ये भी पढ़ें- सात समुंदर गर्ल' की 19 साल की उम्र में आज ही के दिन हुई थी रहस्यमयी मौत

सुचित्रा सेन आखिरी बार साल 1978 में प्रदर्शित बांग्ला फिल्म 'प्रणोय पाश' में देखी गई थी. इस फिल्म के बाद उन्होंने इंडस्ट्री से संन्यास ले लिया और रामकृष्ण मिशन की सदस्य बन गईं और सामाजिक कार्य करने लगीं थी. 1972 में सुचित्रा सेन को पद्मश्री पुरस्कार से नवाजा गया. अपने दमदार अभिनय से दर्शकों के बीच खास पहचान बनाने वालीं सुचित्रा सेन 17 जनवरी 2014 को इस दुनिया को अलविदा कह गयीं थी.

ये भी पढ़ें- VIDEO: जब सलमान खान ने दिया था 'मैंने प्यार किया' का ऑडिशन...

First published: 6 April 2018, 10:12 IST
 
अगली कहानी