Home » बॉलीवुड » Thugs of Hindostan actor aamir khan and three others against file legal case in jaunpur
 

'ठग्स आफ हिंदुस्तान' के रिलीज से पहले कानूनी पेंच में फंसे आमिर, इस वजह से हुआ केस दर्ज

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 November 2018, 10:39 IST

उत्तर प्रदेश के जौनपुर में फिल्म 'ठग्स आफ हिंदुस्तान' के निर्माता, निर्देशक व एक्टर आमिर खान के खिलाफ जाति विशेष को अपमानित कर मानहानि करने एवं भावनाओं को ठेस पहुंचाने का केस दर्ज किया है. अदालत केस दायर कराने वाले वकील हंसराज चौधरी को गवाही के लिए 12 नवंबर को पेश होने के लिए बुलाया है.

ये भी पढ़ें- Thugs Of Hindostan Trailer: ठग्स हिंदोस्तान को लूटने आए, तो अमिताभ की तलवार और आमिर के दिमाग ने ऐसे बचाया...

बता दें कि फिल्म का टाइटल बदलने एवं मल्लाह के पहले फिरंगी शब्द हटाने सम्बन्धी ज्ञापन दो दिन पहले निषाद समाज के लोगों ने भी जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को सौंपा था. दरअसल आमिर खान की फिल्म 'ठग्स आफ हिंदुस्तान' एक अंग्रेजी नोवेलिस्ट के नोवेल पर आधारित है जो आजादी के पूर्व आजादी के दीवानों को आतंकवादी ठग आदि शब्द कहते थे. फिल्म में 1795 की घटना दिखाई गई है.

वकील हंसराज चौधरी ने ठग्स आफ हिंदुस्तान फिल्म के निर्माता आदित्य चोपड़ा, निर्देशक विजय कृष्णा, अभिनेता आमिर खान के खिलाफ परिवाद दायर किया है. उनके अलावा 30 अक्टूबर को प्रदीप निषाद, बृजेश निषाद, संजीव नागर, मनोज नागर ने परिवादी के आवास पर सोशल मीडिया पर फिल्म ठग्स ऑफ हिंदुस्तान का ट्रेलर देखा जिसमें मल्लाह जाति को फिरंगी मल्लाह शब्दों से संबोधित कर अपमानित किया गया है.

ये भी पढ़ें- ठग्स ऑफ हिंदुस्तान' देखने के लिए करानी पड़ेगी एडवांस बुकिंग, इस दिन के बाद नहीं मिलेंगे टिकट

परिवादी के अधिवक्ता हिमांशु श्रीवास्तव व बृजेश सिंह ने केस पर बहस किया कि जानबूझकर फिल्म की टीआरपी बढ़ाने, मुनाफा कमाने के लिए दुर्भावनापूर्ण तरीके से फिल्म का ऐसा नाम रखा गया और जाति विशेष को फिल्म में अपमानित किया गया. पूरे निषाद समाज को ठग व फिरंगी की संज्ञा दी गई.

केस में कहा गया है कि फिल्म की कहानी केवल कानपुर जिले की है, फिर टाइटल ठग्स आफ हिंदुस्तान रखना फिल्मकारों की दुर्भावना दर्शाता है. फिल्म में आमिर खान को फिरंगी मल्लाह से संबोधित किया गया है. फिल्मकार जानते हैं कि विरोध पर फिल्म ज्यादा चलेगी. विरोध न होने पर लोग निषाद-मल्लाह को ठग व फिरंगी समझेंगे. फिल्मकारों के इस कृत्य से जातियों में घृणा व वैमनस्य की भावना पैदा हुई. साथ ही सौहार्द व देश की एकता व अखंडता पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है.

ये भी पढ़ें- ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' का इंतजार कर रहे दर्शक होंगे निराश, फिल्ममेकर्स ने टिकट को लेकर लिया बड़ा फैसला

First published: 1 November 2018, 10:32 IST
 
अगली कहानी