Home » बॉलीवुड » Umesh Shukla on Modi web series says It was never in our minds to release it before the elections
 

नरेंद्र मोदी की वेबसीरीज ‘मोदी: जर्नी ऑफ ए कॉमन मैन’ को लेकर परेशान है डायरेक्टर, बोले- मैं चुनाव के बीच में..

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 March 2019, 10:11 IST
Modi: Journey Of A Common Man

बॉलीवुड में इन दिनों चुनावी हवा की लहर भी तेजी से चल रही हैं और ऐसे में कई पॉलिटिकल राजनेताओं की बायोपिक और वेबसीरीज बनाई जा रही है. ऐसे में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक से लेकर वेबसीरीज भी तैयार की जा रही हैं. जहां एक तरफ मोदी की बायोपिक 5 अप्रैल को रिलीज होने वाली है तो वहीं वेबसीरीज रिलीज होने की तैयारी में हैं. इस वेबसीरीज के डायरेक्टर उमेश शुक्ला एक मुश्किल में पड़ गए हैं और उन्होंने इस मामले में कुछ कहा है.

उमेश शुक्ला द्वारा निर्देशित वेबसीरीज ‘मोदी: जर्नी ऑफ ए कॉमन मैन’ को लेकर डायरेक्टर काफी चिंतित है और उन्हें चुनाव आयोग का डर परेशान कर रहा है. उमेश शुक्ला ने कहा,"मैं ‘मोदी: जर्नी ऑफ ए कॉमन मैन’ वेबसीरीज को अप्रैल में रिलीज करना चाहता था लेकिन लागू हुई आचार संहिता और चुनाव आयोग के फैसले को देखते हुए परेशान हूं. वैसे ये एक वेबसीरीज है और ये इंटरनेट प्लेटफॉर्म पर रिलीज होगी जिसपर मुझे नहीं लगता कि आचार संहिता उस पर लागू होती है. फिर भी हमें कुछ नहीं पता और अभी तक हमने इसकी रिलीज डेट की तारीख की घोषणा नहीं की है."

PM Modi

इसके अलावा इस फिल्म में पीएम मोदी से जुड़े हर एक पहलूओं को दिखाया जाएगा और पीएम मोदी की जिंदगी से जुड़ा सबसे बड़ा कांड भी इसमें रिक्रिएट किया जा रहा है. ये कांड नरेंद्र मोदी के जीवन का एक ऐसा वक्त था जब सब ने उनका साथ छोड़ दिया था और कहा जा रहा था कि ये उन्होंने ही कराया है. इस सीन को शूट करने के लिए एक ट्रेन की बोगी को वीएफएक्स की मदद से जलाया गया और सीन शूट किया गया. 

प्रियंका-निक की शादी के चार महीनों बाद आ रही हैं तलाक की खबरें! सिंगर ने कहा- वो सिर्फ पार्टी..

गौरतलब है कि साल 2002 में 27 फरवरी को हुआ सबसे बड़ा कांड गोधरा कांड जो कि शायद ही कोई भूल सकता है. इस कांड में साबरमती एक्सप्रेस के एस 6 में आग लग गई थी और इसमें 59 लोगों की मौत हो गई थी. इस कोच में अयोध्या से आ रहे कई सेवक भी शामिल थे और इसके बाद ही गुजरात में दंगे भड़क गए थे. इस कांड को फिल्म में दिखाया जाएगा और कहा जाता है कि ये कांड मोदी के जिंदगी के लिए एक नेगेटिव वक्त था.

First published: 31 March 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी