Home » बॉलीवुड » Om Puri: Some interesting instances about actor's private life
 

अनलाइकली हीरो: चेहरे पर दाग़ और भूखी आंखों वाला युवक बरामदे में रहता था

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 January 2017, 11:17 IST
(फाइल फोटो)

अपनी निजी ज़िंदगी को लेकर अभिनेता ओम पुरी विवादों में भी रहे. 2016 में उनकी पत्नी नंदिता पुरी से उनका 26 साल पुराना रिश्ता टूट गया. उनके 18 साल के बेटे ईशान की कस्टडी भी नंदिता को मिल गई थी. पेशे से पत्रकार नंदिता पुरी ओम पुरी की दूसरी पत्नी थीं. 

नंदिता पुरी ने ओम पुरी पर बायोग्राफी 'अनलाइकली हीरो: ओम पुरी' लिखी है. 23 नवंबर 2009 को इस किताब का विमोचन होने के बाद विवाद खड़ा हो गया था. ओम पुरी की पत्नी ने इस किताब में कुछ ऐसी घटनाओं का जिक्र किया है, जिसको लेकर ओम पुरी ने सार्वजनिक रूप से नाराजगी का इजहार किया था. एक नज़र इस बायोग्राफी में लिखे गए कुछ प्रसंगों पर:

ओम पुरी की दूसरी पत्नी नंदिता पुरी ने 23 नवंबर 2009 को बायोग्राफी अनलाइकली हीरो: ओम पुरी का विमोचन किया था.

रेल की पटरी से चाय की दुकान तक

ओमपुरी ने बचपन से ही बहुत संघर्ष किया. पांच साल की उम्र में ही वे रेल की पटरियों से कोयला बीनकर घर लाया करते थे. सात साल की उम्र में वे चाय की दुकान पर गिलास धोने का काम करने लगे थे. 

सरकारी स्कूल से पढ़ाई कर कॉलेज पहुंचे. उस समय भी वह छोटी-मोटी नौकरियां कर गुजारा करते थे. कॉलेज में ही यूथ फेस्टिवल में नाटक में हिस्सा लेने के दौरान उनका परिचय पंजाबी थिएटर के पिता हरपाल तिवाना से हुआ. यहीं से उन्हें वह रास्ता मिला जो आगे चलकर उन्हें मंजिल तक पहुंचाने वाला था. 

ओम प्रकाश पुरी से ओम पुरी तक

पंजाब से निकलकर वे दिल्ली आए और एनएसडी में दाखिला लिया. कमजोर अंग्रेजी की वजह से वहां से निकलने की सोचने लगे. तब इब्राहिम अल्काजी ने उनकी यह कुंठा दूर की और हिंदी में ही बात करने की सलाह दी. धीरे-धीरे वह अंग्रेजी भी सीखते रहे. 

एनएसडी के बाद 'फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया' से एक्टिंग का कोर्स करने के बाद ओम मुंबई आए और धीरे-धीरे फिल्मों में स्थापित हुए. कला फिल्मों से टेलीविजन, व्यावसायिक फिल्मों और हॉलीवुड की फिल्मों तक का सफर तय करके उन्होंने सफलता का स्वाद भी चखा. 

उनकी इस सफलता के बारे में उनके मित्र अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने ठीक ही लिखा है, "ओमप्रकाश पुरी से ओम पुरी बनने तक की पूरी यात्रा का मैं चश्मदीद गवाह रहा हूं, एक दुबले-पतले चेहरे पर कई दागों वाला युवक जो भूखी आंखों और लोहे के इरादों के साथ एक स्टोव, एक सॉसपैन और कुछ किताबों के साथ एक बरामदे में रहता था, अंतराष्ट्रीय स्तर का कलाकार बन गया."

नसीरुद्दीन शाह और ओम पुरी ने दिल्ली के एनएसडी में एक साथ पढ़ाई की थी.

55 साल की नौकरानी से पहला प्यार

ओम पुरी उस वक्त 14 साल के थे जब उन्होंने पहली बार किसी महिला से शारीरिक संबंध बनाए. उनके मामाजी के घर में 55 साल की नौकरानी काम करती थी. वहां दिन में दो बार हैंडपंप से पानी निकाला जाता था. ओम को इस काम में नौकरानी की मदद करने को कहा गया.

कई दिन गुजर गए और हैंडपंप से पानी निकालना ओम की जिंदगी का हिस्सा बन गया. फिर एक दिन अचानक उसे एहसास हुआ कि नौकरानी ने उसे छुआ और प्यार से पुचकारा. 14 साल का ओम 55 साल की नौकरानी की तरफ आकर्षित होने लगा.

किताब के मुताबिक एक रात मामाजी के घर की बत्ती गुल हो गई. अंधेरे का फायदा उठाकर नौकरानी ने ओम को पकड़ लिया. इस तरह 14 साल का एक लड़का जवान बन गया. 55 साल की वो नौकरानी ही ओम का पहला प्यार थी.

First published: 6 January 2017, 11:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी