Home » बिज़नेस » 100% FDI to be allowed in food products produced and marketed in India campaign
 

बजट 2016-17: फूड प्रोडक्ट्स में 100 फीसदी एफडीआई

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 February 2016, 16:24 IST
QUICK PILL
  • वित्त मंत्री अरुण जेटली बजट भाषण में भारत में बनाए और बेचे जाने वाले फूड प्रॉडक्ट्स में एफआईपीबी के जरिये 100 फीसदी विदेशी निवेश (एफडीआई) की घोषणा की है.
  • 2016-17 में कृषि के लिए 35,984 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं. जेटली ने कहा, \'हमारी योजना 2015-16 में 8.5 लाख कृषि कर्ज वितरित करने की थी और 2016-17 में इसे बढ़ाकर 9 लाख करोड़ कर दिया गया है.\' 

बजट 2016-17 में कृषि क्षेत्र और ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया गया है. वित्त मंत्री अरुण जेटली बजट भाषण में भारत में बनाए और बेचे जाने वाले फूड प्रॉडक्ट्स में एफआईपीबी के जरिये 100 फीसदी विदेशी निवेश (एफडीआई) की घोषणा की है.

जेटली ने कहा कि मौजूदा खराब वैश्विक अर्थव्यवस्था के बीच भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति मजबूत है. उन्होंने कहा कि वैश्विक मंदी एक गंभीर समस्या है और इससे वित्तीय बाजार की हालत खराब हुई है. हालांकि विपरीत चुनौतियोंके बी भारतीय अर्थव्यवस्था मजबूत बनी हुई है.

बजट 2016-17: मनरेगा को रिकॉर्ड आवंटन, मध्यवर्ग को झटका

कृषि पर विशेष ध्यान देते हुए जेटली ने बजट में कई उपायों और घोषणाओं की झड़ी लगाकर मोदी सरकार की प्राथमिकताओं को साफ कर दिया. जेटली ने कहा, 'किसानों को सही समय पर कर्ज मुहैया कराने के लिए सरकार ने कमर कस ली है.'

2016-17 में कृषि के लिए 35,984 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं. जेटली ने कहा, 'हमारी योजना 2015-16 में 8.5 लाख कृषि कर्ज वितरित करने की थी और 2016-17 में इसे बढ़ाकर 9 लाख करोड़ कर दिया गया है.'

बजट 2016-17: जेटली का नारा, चलो गांव की ओर

जेटली ने कहा कि सरकार की योजना स्वॉयल हेल्थ कार्ड को मजबूती से लागू करने की है और इसके तहत 2017 तक 14,000 करोड़ एकड़ के रकबे को शामिल कर लिया जाएगा.

वित्त मंत्री ने कहा, 'आईएमएफ ने भारत की तारीफ की है. पिछले तीन सालों के मुकाबले पिछली सरकारों के रिकॉर्ड को देखिए. हमें वैसी अर्थव्यवस्था विरासत में मिली थी जिसकी हालत ख्रराब थी और महंगाई दर ज्यादा थी.' 

First published: 29 February 2016, 16:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी