Home » बिज़नेस » 15,000 crore rupees lost after removing 370 from Kashmir, lost so many jobs
 

'कश्मीर से 370 हटाने के बाद हुआ 15,000 करोड़ का नुकसान, गई इतनी नौकरियां'

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 December 2019, 18:22 IST

सरकार द्वारा काश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रावधान को रद्द करने के बाद अर्थव्यवस्था को 5 अगस्त से करीब 15,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. एक वाणिज्य निकाय ने यह दावा किया है. अगस्त में केंद्र ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर इसे लद्दाख और जम्मू-कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया था. हिन्दू की रिपोर्ट के अनुसार कश्मीर चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (KCCI) के अध्यक्ष शेख आशिक हुसैन ने कहा कि हम एक हफ्ते के भीतर नुकसान के बारे में व्यापक आंकड़े लेकर आएंगे.

उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को होने वाले नुकसान से ज्यादा इंटरनेट सेवाओं को बंद करने के कारण नौकरी का नुकसान हुआ है. हुसैन ने कहा कि हैंडीक्राफ्ट, पर्यटन और ई-कॉमर्स सेक्टर सेंटर्स सबसे ज्यादा प्रभावित हुए. हालांकि अधिकांश प्रतिबंध हटा दिए गए हैं, लेकिन प्रीपेड मोबाइल फोन पर इंटरनेट 5 अगस्त से बंद है. घाटी में पोस्टपेड सेलफोन और लैंडलाइन काम कर रहे हैं. पोस्टपेड फोन पर एसएमएस बंद हैं. 

रिपोर्ट के अनुसार बॉडी ने कहा कि “अकेले हस्तशिल्प क्षेत्र में 50,000 से अधिक लोगों को अपनी नौकरी खो दी है. संचार सुविधाओं के अभाव में कारीगरों को कोई नए आर्डर नहीं मिल रहे हैं. यहां तक कि कुशल कारीगरों को अपनी दैनिक जरूरतों को पूरा करने के लिए विषम नौकरियों की तलाश करने के लिए मजबूर किया गया है''.

हुसैन ने दावा किया कि होटल और रेस्तरां उद्योग में 30,000 से अधिक लोगों को अपनी नौकरी खो दी. उन्होंने कहा कि ई-कॉमर्स क्षेत्र, जिसमें ऑनलाइन खरीद के लिए कूरियर सेवाएं शामिल हैं, 10,000 लोगों को अपनी नौकरी खो दी.

अपनी रिपोर्ट में बॉडी ने कहा "सूचना प्रौद्योगिकी उद्योग को इस क्षेत्र के लिए इंटरनेट लीज़ लाइनों को बहाल करने के बाद कुछ राहत मिली, लेकिन कश्मीर में व्यापार की समग्र स्थिति निराशाजनक है." 5 अगस्त की घोषणा से पर्यटन क्षेत्र को सबसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ा क्योंकि जम्मू और कश्मीर सरकार ने पर्यटकों सहित सभी गैर-स्थानीय लोगों को एक एडवाइजरी जारी की थी.

निपटा लें अपने काम, दिसंबर में 9 दिन रहेगी बैंकों की छुट्टियां, यहां है लिस्ट

First published: 5 December 2019, 18:02 IST
 
अगली कहानी