Home » बिज़नेस » 2000 note is not available in ATM, a bank gave instructions to its employees
 

ATM में नहीं मिल रहा है 2000 का नोट, बैंक ने दिया अपने कर्मचारियों को ये बड़ा निर्देश

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2020, 11:14 IST

क्या नोटबंदी के बाद छापे गए 2000 के नोट बंद होने की कगार पर हैं. एक रिपोर्ट के अनुसार सार्वजनिक क्षेत्र के एक बैंक के कर्मचारियों को वरिष्ठ प्रबंधन ने निकासी के दौरान 2,000 के नोट नहीं देने का आदेश दिया है. यही नहीं उन्हें एटीएम में भी स्टॉक नहीं रखने के निर्देश दिए गए हैं. न्यूज़ वेबसाइट बिजनेस इनसाइडर के अनुसार सार्वजनिक क्षेत्र के एक बैंक ने वरिष्ठ प्रबंधन को 2,000 के नोटों को चलन से बाहर रखने के निर्देश जारी किए हैं.

रिपोर्ट में कहा गया है, हालांकि बैंक ने अपने कर्मचारियों से कहा कि वह जमा करने वालों से 2000 के नोटों को स्वीकार कर सकते हैं. रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि बैंक के निर्देश जारी होने के बाद वरिष्ठ अधिकारियों ने शाखा प्रबंधकों को यह पुष्टि करने के लिए बुलाया है कि आदेश लागू किया जा रहा है या नहीं. उन्हें यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि केवल 500, 200 और 100 के नोट ही एटीएम में लोड किये जाएं.

 

रिपोर्ट में कहा गया है कि उन्होंने इस बात की पड़ताल की कि क्या देशभर में एटीएम से 2000 के नोट निकल रहे हैं या नहीं, इसमें पाया गया कि ज्यादातर बैंक सिर्फ 500 रूपये के नोट में कैश दे रहे हैं. हालही में नेशनल क्रिमिनल रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) ने बताया था कि नोटबंदी के बाद बाजार में नकली नोटों की बाढ़ सी आ गई है. आंकड़े के अनुसार इन नकली नोटों ने 56 फीसदी 2000 रुपये के थे.

आरबीआई नहीं छाप रहा है 2000 के नोट

हालही में सूचना के अधिकार (आरटीआई) के जवाब में आरबीआई ने कहा कि 2,000 के करेंसी नोटों की छपाई पूरी तरह से रोक दी गई है. हालांकि 2000 के नोटों को बंद करने की आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है लेकिन लेकिन इन नोटों लिमिटेड किया जा रहा है ताकि लोग इनकी जमाखोरी न करें. 2016-17 में RBI ने दावा किया कि उसने 3,544.991 मिलियन नोट छापे. अगले साल बैंक ने 111.507 नोट छापे, जो कि 2018-19 घटकर 46.690 मिलियन हो गए.

इंडियन रेलवे की पटरियों पर अब दौड़ेगी टाटा, अडानी और Hyundai की रेल, जानिए क्या है सरकार का प्लान ?

First published: 10 February 2020, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी