Home » बिज़नेस » 24.16 billion losses to SBI due to NPA of large corporate houses
 

बड़े कॉर्पोरेट घरानों के NPA से एसबीआई को हुआ 2416 करोड़ का घाटा

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2018, 13:31 IST

देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) को चालू वित्तवर्ष वित्त वर्ष की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 2416 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है एसबीआई का कहना है कि इस घाटे के लिए बड़े कॉर्पोरेट घरानों का एनपीए जिम्मेदार है. हालंकि पिछले वित्त वर्ष की दिसंबर तिमाही में एकल आधार पर एसबीआई को 26.10 अरब रुपये का शुद्घ मुनाफा हुआ था.

बाजार को अनुमान था कि तीसरी तिमाही में एसबीआई का मुनाफा 2508 करोड़ रुपये रह सकता है. वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में एसबीआई को 2,610 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था. वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में एसबीआई की ब्याज आय 26.7 फीसदी बढ़कर 18,687.5 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में एसबीआई की ब्याज आय 14,75 करोड़ रुपये रही थी.

इस तिमाही में एसबीआई की शुद्घ ब्याज आय 5.17 फीसदी सुधरकर 186.88 अरब रुपये रही, जो वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में 177.69 अरब रुपये थी. शुद्घ ब्याज मार्जिन दिसंबर 2016 के 2.71 फीसदी से घटकर दिसंबर 2017 में 2.45 फीसदी रहा। बॉन्ड प्रतिफल बढऩे से भी तीसरी तिमाही में ट्रेजरी परिचालन पर असर पड़ा है.

इसकी वजह से गैर-ब्याज आय 29.75 फीसदी घटकर 80.84 अरब रुपये रही, जो पिछले साल की समान तिमाही में 115.07 अरब रुपये थी। निवेश की बिक्री पर होने वाले मुनाफे को निकाल दें, तो गैर-ब्याज आय 6.82 फीसदी बढ़ी है. दिसंबर 2017 तिमाही में शुल्क आय 5.71 फीसदी बढ़कर 49.79 अरब रुपये रही, जो पिछले साल की समान तिमाही में 47.10 अरब रुपये रही थी.

First published: 10 February 2018, 13:25 IST
 
अगली कहानी