Home » बिज़नेस » 66% of complaints mutually settled: Banking Ombudsman Report
 

बीते साल ग्राहकों ने बैंकों के खिलाफ की 1.63 लाख शिकायतें, सबसे ज्यादा SBI के खिलाफ

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 April 2019, 11:12 IST

भारतीय रिज़र्व बैंक ने 2017-18 की अपनी बैंकिंग लोकपाल की वार्षिक रिपोर्ट जारी की है. यह रिपोर्ट 1 जुलाई 2017 से 30 जून, 2018 तक की है. रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले दो वर्षों की तुलना में बैंको में आने वाली शिकायतों के निपटान में सुधार हुआ है.

हालांकि इस रिपोर्ट के अनुसार इस अवधि के दौरान बैंकों ने आने वाली शिकायतें 25 फीसदी बढ़ गई. 2018 में ग्राहकों की ओर से बैंकों को 1.63 लाख शिकायतें मिलीं हैं. इन शिकायतों में सबसे ज्यादा 47,000 शिकायतें भारतीय स्टेट बैंक में थी.जबकि एचडीएफसी बैंक के खिलाफ 12,000 शिकायतें मिली.

 

रिपोर्ट में कहा गया है कि 65.82% बैंकिंग शिकायतों का निपटारा आपसी समझौता द्वारा किया गया है. यह 2016-17 में 42.43% और 2015-16 में 35.93% था. शिकायतों की अस्वीकृति दर इसी अवधि में 2015-16 में 63.65% से बढ़कर 2017-18 में 33.82% हो गई.

भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकिंग ग्राहकों द्वारा शिकायतों की सुनवाई के लिए 2006 में बैंकिंग लोकपाल योजना की स्थापना की. बैंकिंग क्षेत्रों जैसे बचत खाते, ऋण और क्रेडिट कार्ड के संबंध में लोकपाल को शिकायत की जा सकती है.

2017-18 में ग्राहकों को वित्तीय उत्पादों की गलत बिक्री के खिलाफ शिकायत करने में सक्षम बनाने और मोबाइल और इंटरनेट बैंकिंग के संबंध में शिकायतों की अनुमति देने के लिए योजना में संशोधन किया गया था.

 मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज पेट्रोल- डीजल कारोबार में जमा रही है अपने कदम

First published: 25 April 2019, 11:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी