Home » बिज़नेस » 73% bad loans of public sector bank owned by corporate houses RBI report
 

सरकारी बैंकों के फंसे हुए कर्ज में 73 फीसदी बड़े कॉर्पोरेट घरानों का : RBI रिपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 March 2018, 11:37 IST

भारतीय रिज़र्व बैंक के नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के फंसे हुए कर्जे में सबसे बड़ी हिस्सेदारी कॉर्पोरेट ऋण की है. आंकड़ों के मुताबिक यह हिस्सेदारी लगभग तीन चौथाई है. आंकड़ों के मुताबिक सरकारी बैंकों का कुल 6.41 लाख करोड़ रुपये का कर्ज फंसा हुआ है. इसमें उद्योग जगत की हिस्सेदारी चार लाख 70 हजार करोड़ के करीब है. यह बैंकों द्वारा दिए गए कुल कर्ज का करीब 37 फीसदी है.

आंकड़ों के मुताबिक कर्ज में 22.83 फीसदी हिस्सेदारी रखने वाले रीटेल सेक्टर में एनपीए का आंकड़ा केवल 3.71 फीसदी (23,795 करोड़ रु) है. इसके अलावा कृषि क्षेत्र में यह नौ फीसदी और सेवा क्षेत्र में 13.21 फीसदी है.

 

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का कुल 6.41 लाख करोड़ एनपीए में 4.70 लाख करोड़ रुपये 31 मार्च, 2017 तक उद्योग को दिए गए ऋण में से था. जबकि रिटेल लोन में एनपीए का यह हिस्सा 23,795 करोड़ रुपये था.

31 दिसंबर 2017 तक बड़े उद्योगों के एनपीए अनुपात के मामले में, इंडियन ओवरसीज बैंक 44.29 प्रतिशत के साथ सबसे ऊपर था. जबकि आईडीबीआई बैंक का अनुपात 42.69 प्रतिशत, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का 25.0 9 प्रतिशत, इलाहाबाद बैंक 36.94 प्रतिशत, बैंक ऑफ महाराष्ट्र 36.58 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक 20.83 प्रतिशत था.

ये भी पढ़ें : Videocon-ICICI Case: दीपक कोचर और वीडियोकॉन ग्रुप के चेयरमैन के खिलाफ CBI ने दर्ज की प्राथमिकी

First published: 31 March 2018, 11:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी