Home » बिज़नेस » 8 people have same wealth as world's poorest half:Oxfam
 

ऑक्सफैम: भारत की 58 फीसदी संपत्ति देश के 1 फीसदी अमीरों के पास

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 January 2017, 13:59 IST
(ओक्सफेम)

दुनिया के 8 व्यक्तियों के पास उतनी संपत्ति है, जितनी दुनिया की आधी आबादी के पास है. 19 संगठनों के अंतरराष्ट्रीय परिसंघ ऑक्सफेम ने अपनी एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा किया है. 

ऑक्सफेम के मुताबिक, इन आठ उद्योगपतियों में अमेरिका के छह, स्पेन और मेक्सिको के एक-एक उद्योगपति शामिल हैं. ऑक्सफेम के अनुसार, इन उद्योगपतियों के पास जितनी संपत्ति है वह संपत्ति दुनिया के सबसे गरीब 3.6 अरब लोगों के पास मौजूद संपत्ति के बराबर है.

रिपोर्ट के अनुसार दुनिया की कुल दौलत 2557 खरब डॉलर है. इसमें से 65 खरब डॉलर संपत्ति केवल तीन अमीरों बिल गेट्स (75 अरब डॉलर), अमेंसियो ओट्रेगा (67 अरब डॉलर) और वारेन बफेट (60.8 अरब डॉलर) के पास है.

ऑक्सफेम की रिपोर्ट के मुताबिक भारत की 58 फीसदी संपत्ति पर केवल 1 फीसदी आबादी का कब्जा है. यह आंकड़ा 50 फीसदी के वैश्विक आंकड़े से ज्यादा है. भारत के 57 सबसे अमीर लोगों के पास करीब 15 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति है. इतनी ही राशि देश के उन 70 प्रतिशत लोगों के पास है जो आर्थिक हैसियत के हिसाब से निचले पायदान पर खड़े हैं.

अरबपतियों को इस सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के मालिक मुकेश अंबानी कुल 1.31 लाख करोड़ रुपये की कुल संपत्ति के साथ पहले स्थान पर हैं। उनके बाद दिलीप सांघवी ( करीब 1.13 लाख करोड़) और अजीम प्रेमजी (1.02 लाख करोड़) का नंबर है.

ऑक्सफेम ने विश्व में अमीर और गरीबों के बीच के विशाल अंतर और मुख्यधारा की राजनीति में उत्पन्न हो रहे असंतोष को रेखांकित किया है. अपनी एक नई रिपोर्ट एन इकॉनोमी फॉर द 99 पर्सेंट में ऑक्सफेम ने कहा, ब्रेग्जिट से लेकर डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति अभियान की सफलता तक, नस्लवाद में वृद्धि और मुख्यधारा की राजनीति में अस्पष्टता से चिंता बढ़ रही है. वहीं संपन्न देशों में अधिक से अधिक लोगों में यथा स्थिति बर्दाशत न करने के संकेत भी अधिक दिख रहे हैं.

ऑक्सफैम की रिपोर्ठ ठीक ऐसे वक्त आई है जब स्विट्ज़रलैंड के डावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की बैठक होनेवाली है. दावोस में मंगलवार से शुरू हो रही विश्व के राजनीतिक और आर्थिक विशिष्ट वर्गों की बैठक के एजेंडे में असमानता प्रमुख मुद्दा है. शुक्रवार तक चलने वाली वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की वार्षिक बैठक में करीब 3,000 लोग शिरकत करेंगे.

First published: 16 January 2017, 13:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी