Home » बिज़नेस » 8 PSU Bank merger comes in force on 1 April, How it impacts customers
 

मर्ज किये गए इन इन 8 बैंकों के ग्राहक रखें ध्यान, 1 अप्रैल से हो जायेंगे ये बदलाव

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 March 2021, 9:15 IST
8 PSU Bank merger (Catch news)

Bank merger;  सरकार ने हालही में 8 सरकारी बैंकों का मर्जर कर लिया था. अगर इन बैंकों में आपके खाते हैं तो आपको इनमें कुछ बदलाव करने की आवश्यकता होगी. जिन बैंकों का विलय होने वाला है, उनमें में विजया बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक, आंध्रा बैंक, सिंडिकेट बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक और देना बैंक शामिल हैं.

क्या होगा बदलाव


1 अप्रैल से मर्ज होने वाले बैंकों की चेकबुक मान्य नहीं होगी. आपको एंकर बैंकों (जिसमें अन्य विलय हो रहा है) से नई चेकबुक प्राप्त करने की आवश्यकता होगी.

बैंकों की वेबसाइटों के अनुसार उदाहरण के लिए ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया की चेकबुक 31 मार्च तक ही मान्य होगी. दोनों बैंकों का पंजाब नेशनल बैंक में विलय हो गया है.

हालांकि कुछ बैंक ग्राहकों को अधिक समय दे सकते हैं क्योंकि भारतीय रिजर्व बैंक ने कुछ बैंकों को एक या दो तिमाही के लिए पुरानी चेकबुक जारी रखने की अनुमति दी है. उदाहरण के लिए सिंडिकेट बैंक ग्राहक 30 जून तक अपनी चेकबुक का उपयोग कर सकते हैं.

आपका बैंक आपको चेक बुक और पासबुक चलाने की अनुमाई कब तक देता है इसके लिए आपको बैंक से लगातार अपडेट लेना पड़ेगा. यदि आपने पोस्ट-डेटेड चेक दिए हैं, तो आपको नई चेकबुक मिलते ही उन्हें एक नए से बदलना होगा. IFSC और MICR कोड कुछ बैंकों के लिए बदल जाएगा.

यदि आपने विलय वाले बैंकों से ऋण लिया है, तो एंकर बैंक प्रक्रिया को सुव्यवस्थित करेगा. जहां तक फिक्स्ड डिपॉजिट का सवाल है, बैंक ब्याज दरों में बदलाव नहीं करेंगे. अधिकांश बैंक ग्राहकों को पुराने कार्ड का उपयोग समाप्ति तक जारी रख सकते हैं, जिसके बाद नए बैंक के कार्ड जारी किए जाएंगे.

Covid-19 : 84 फीसदी नए COVID-19 के मामले इन 8 राज्यों से आये, यहां जानिए पूरा अपडेट

First published: 29 March 2021, 21:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी