Home » बिज़नेस » A Rat bite a passenger in train and train consumer court ordered railway to pay rs 25000 of passenger
 

ट्रेन में यात्री को चूहे ने काटा तो रेलवे को देना पड़ा 25 हजार रुपये का हर्जाना

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 August 2018, 13:10 IST

रेल यात्रा करते समय यात्रियों के कई तरह की परेशानियां झेलनी पड़ती है औऱ इस यात्रा में आपको कभी-कभी चूहे भी परेशान करते हैं. एक परेशानी की घटना रेलवे में तमिलनाडु के यात्री के साथ हुई और उसने रेलवे से चार साल की लड़ाई के बाद अपने साथ हुए इसका हर्जाना भी लिया. बता दें कि तमिलनाडु के रहने वाले वैंकटचलम 8 अगस्त 2014 को चेन्नई जाने के लिए ट्रेन में यात्रा कर रहे थे. यहां पर ट्रेन के डिब्बे में उनको चूहे ने काट लिया जिसके बाद उन्होंने इसकी जानकारी TTE को भी दी.

जानकारी देने के बाद भी TTE ने उनकी बात पर ध्यान नहीं दिया और नहीं उनके बहते हुए खून को देखकर भी TTE ने प्राथमिक उपचार नहीं दी. उन्होंने कहा कि उनका इलाज अगले स्टेशन पर ही होगा फिर वैंकटचलम अगले स्टेशन पर वह उतर गए. इसके बाद उन्होंने इस मामले की शिकायत रेलवे से की और अपना इलाज प्राइवेट हॉस्पिटल में कराया.

इसके बाद इस पूरी घटना की जानकारी उन्होंन कंज्यूमर फोरम में दी और शिकायत करने के बाद पर कंज्यूमर फोरम ने रेलवे को आदेश दिया कि वो वैंकटचलम को 25 हजार रुपये का हर्जाना दे.

इसके साथ ही उन्हें इलाज के लिए 2 हजार रुपये और केस के खर्च के तौर पर 5 हजार रुपये भी देने का आदेश दिया. वहीं, इस संबंध में कंज्यूमर फोरम ने रेलवे से कहा, "3 महीने के भीतर ये हर्जाना यात्री को मिलना चाहिए. अगर 3 महीने में ये हर्जाना नहीं दिया गया तो रेलवे को इस रकम पर ब्याज भी देना होगी."

इस संबंध में कंज्यूमर फोरम ने कहा कि, "अगर रेलवे में इस तरह को कोई दिक्कत होती है तो सबसे पहले इसकी शिकायत रेलवे की शिकायत पुस्तिका में करें. उसकी फोटो खींच कर अपने पास रख लें. अपने ट्रेन के टिकट को भी संभाल कर रखें. इसके बाद कंज्यूमर कोर्ट में शिकायत करें. इस तरह की शिकायत के लिए आपके पास पर्याप्त सबूत होने चाहिए."

ये भी पढ़ें: जैव ईंधन से SpiceJet ने उड़ाया विमान, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बताया बड़ी उपलब्धि

First published: 30 August 2018, 13:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी