Home » बिज़नेस » Supreme court gives big relief to Gautam Adani in coal import case
 

इंडोनेशिया से कोयला इंपोर्ट मामले में गौतम अडानी को सुप्रीम कोर्ट ने भेजा नोटिस

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 January 2020, 16:18 IST

इंडोनेशिया से कोयला आयात की जांच के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को अडानी एंटरप्राइजेज को नोटिस जारी किया है. इन ख़बरों के बाद अडानी समूह के शेयरों में गिरावट दर्ज की गई. बॉम्बे हाईकोर्ट ने 2011 से 2015 तक दो अडानी फर्मों को इंडोनेशियाई कोयला आयात के मामले में कथित तौर पर DRI द्वारा भेजे गए लेटर्स रोजेटरी (LRs) को रद्द कर दिया था. एलआर एक देश से दूसरे देश में पारस्परिक कानूनी सहायता संधि (एमएलएटी) के तहत एक औपचारिक अनुरोध है. इस संधि के तहत दूसरे देश में स्थापित कंपनी की जानकारी हासिल की जाती है.

पिछले साल अक्टूबर में बॉम्बे हाई कोर्ट ने अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड (AEL) के पक्ष में फैसला सुनाया था और DRI द्वारा भेजे गए सभी लेटर्स रोजेटरी (LRs) को रद्द कर दिया, जो कि 2016 से चल रही एजेंसी द्वारा जांच को रोक दिया गया था.

डीआरआई वर्तमान में लगभग 40 कंपनियों की जांच कर रहा है. इन कंपनियों में अनिल धीरूभाई अंबानी समूह (ADAG) की दो कंपनियां, एस्सार समूह की दो और सार्वजनिक क्षेत्र बिजली कंपनियां शामिल हैं. इन कंपनियों पर 2011 और 2015 के बीच इंडोनेशिया से कोयला आयात में कथित रूप से ओवरवैल्यूएशन करने का आरोप है.


इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार 13 जून 2019 को डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलीजेन्स (DRI) ने बॉम्बे हाईकोर्ट को एक हलफनामे में जानकारी दी थी कि अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड (AEL) जांच में बाधा डाल रहा है. अडानी समूह ने बॉम्बे हाईकोर्ट ने याचिका दायर कर कहा था उन सभी लेटर ऑफ़ रोगटोरी (एलआर) को ख़ारिज कर दिया जाए जो उनके खिलाफ सिंगापुर समेत अन्य देशों को जारी किये गए हैं.

अमेरिका ने जिस ड्रोन से क़ासिम सुलेमानी को मारा उसे भारत भी करना चाहता है हासिल

First published: 8 January 2020, 15:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी