Home » बिज़नेस » After GST council finalises the tax what will be expensive and what things will get cheap.
 

GST: जानिए आपके लिए क्या सस्ता, क्या महंगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 May 2017, 15:33 IST
आर्या शर्मा/ कैच न्यूज़

जीएसटी की तरफ कदम बढ़ाते हुए केंद्र सरकार ने श्रीनगर में दो दिन तक चली जीएसटी काउंसिल की बैठक में विभिन्न क्षेत्रों में जीएसटी की दर तय कर दी. जीएसटी लागू होने के बाद कई चीजों पर लोगों को राहत और कई चीजों पर जेब ढीली करनी पड़ेगी. जीएसटी परिषद की मीटिंग में सर्विस टैक्‍स की दरों को लेकर कुछ अहम फैसले किए गए हैं. 

जीएसटी लागू होने के बाद सर्विस टैक्‍स के लिए दरें 4 स्‍लैब में होंगी. ये दरें  5, 12, 18 और 28 फीसदी होगीं. गोल्‍ड पर टैक्‍स की दर को लेकर इस मीटिंग में फैसला नहीं हो सका. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि जीएसटी के तहत शायद ही किसी चीज पर टैक्‍स की दर में बढ़ोतरी की गई है. उन्‍होंने कहा कि या तो मौजूदा दर बरकरार रखी गई है या दर कम की गई है.

दूरसंचार, बीमा, होटल और रेस्टोरेंट सहित विभिन्न सेवाओं के लिए चार स्लैब दर तय हुई है. सिनेमा सेवाओं, घुड़दौड़ में बाजी लगाने या गैंबलिंग पर 28 प्रतिशत कर लगेगा. नीचे जानिए क्या होगा सस्ता और क्या महंगा?

 

जीएसटी के बाद ये चीजें होंगी सस्ती

हेल्थकेयर व शिक्षा सेवाओं को जीएसटी से छूट रहेगी. हवाई यात्रा में इकोनॉमी श्रेणी पर 5 प्रतिशत कर लगेगा, जिससे हवाई यात्रा सस्ती होगी. अभी इकोनॉमी क्लास के टिकट पर 6% टैक्स लगता है. ट्रेन से यात्रा में सामान्य श्रेणी और बिना एसी वाली रेल यात्रा को जीएसटी से छूट दी गई है, जबकि एसी टिकटों पर 5 प्रतिशत शुल्क लगेगा. अगर आप बिना एसी वाले रेस्टोरेंट में खाना खाते हैं, तो खाने के बिल पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा.

अगर आप 1000 से 2000 रुपये प्रति दिन शुल्क वाले होटल में रहते हैं, तो आपको 12 प्रतिशत टैक्स देना होगा. 2500 से 5000 रुपये प्रतिदिन शुल्क वाले होटल के लिए ये शुल्क दर 18 प्रतिशत रहेगी. फ्लिपकार्ट व स्नैपडील जैसी ऑनलाइन ई-कॉमर्स कंपनियों को आपूर्तिकर्ताओं को भुगतान करते समय एक प्रतिशत टीसीएस कटौती करनी होगी.

 

जीएसटी के बाद ये चीजें होंगी महंगी

जीएसटी लगने के बाद मोबाइल सेवाएं महंगी होंगी. सरकार ने इसे 18 प्रतिशत कर के दायरे में रखा है. फिलहाल दूरसंचार उपभोक्ताओं से उनके फोन बिल 15 प्रतिशत कर और उपकर लगता है.

इसी तरह पांच सितारा होटलों में जीएसटी की दर 28 प्रतिशत रहेगी. अब तक ये 11% लगता था. इसके बाद लोगों को फाइवस्टार होटलों में रहने के लिए 17% ज्यादा टैक्स देना होगा.

अगर आप प्लेन के बिजनेस क्लास में सफर करते हैं तो मौजूदा 9% के बदले आपको 12% टैक्स देना होगा. इसी तरह GST में टूर एंड ट्रैवल पर 18% टैक्स लगेगा. अभी 15% लगता है, यानी टैक्स रेट 3% बढ़ जाएगा.

सरकार पूरे देश में एक जुलाई से जीएसटी लागू करने जा रही है. जीएसटी की अगली बैठक तीन जून को दिल्ली में होगी. इस बैठक में सिगरेट, बीड़ी, टेक्सटाइल, फुटवियर और बायो डीजल जैसे 6 गुड्स एंड सर्विसेस के टैक्स रेट भी तय होंगे.

First published: 20 May 2017, 13:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी