Home » बिज़नेस » After Petrol diesel now LPG cylinder being expensive, subsidy cylinder and without subsidy cylinder expensive
 

पेट्रोल-डीजल के बाद अब घरेलू गैस में लगी महंगाई की आग, हुआ इतने रुपए महंगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 June 2018, 9:35 IST

इन दिनों जनता को महंगाई की दोहरी मार झेलनी पड़ रही है. पेट्रोल-डीजल के बाद अब एलपीजी गैस में महंगाई की आग लग गई है. सरकार ने एलपीजी सिलेंडर के दाम में बढ़ोत्तरी कर दी है. बढ़ोत्तरी के बाद दिल्ली में सब्सिडी वाला सिलेंडर 2 रुपए 34 पैसे और बिना सब्सिडी वाला सिलेंडर 48 रुपए महंगा हो गया है.

नए दामों के बाद अब राजधानी दिल्ली में अब सब्सिडी वाला सिलेंडर 493 रुपए 55 पैसे में मिलेगा, जबकि बिना सब्सिडी वाला सिलेंडर 698 रुपए 50 पैसे में मिलेगा. इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के मुताबिक, अब राजधानी दिल्ली में सब्सिडी वाला सिलेंडर 493 रुपए 55 पैसे, कोलकाता में 496 रुपए 65 पैसे, मुंबई में 491 रुपए 31 पैसे और चेन्नई में 481.84 पैसे में मिलेगा.

राजधानी दिल्ली में बिना सब्सिडी वाला सिलेंडर 698 रुपए 50 पैसे, कोलकाता में 723 रुपए 50 पैसे, मुंबई में 671 रुपए 50 पैसे और चेन्नई में 721.50 पैसे में मिलेगा.

होटल और रेस्टोरेंट में इस्तेमाल होने वाला सिलेंडर भी अब काफी महंगा मिलेगा. होटल में इस्तेमाल होने वाला सिलेंडर अब 77 रुपये महंगा होकर 1244 रुपए 50 पैसे का हो गया है.

पढ़ेंः उपचुनाव: 4 लोकसभा, 10 विधानसभा सीटों के उपचुनाव में BJP चारों खाने चित, जाने कौन कहां जीता

गौरतलब है कि देश के हर घर को एक साल में सब्सिडाइज्ड दामों पर 12 एलपीजी सिलेंडर मिलते हैं. ऐसे में अगर एक साल के अंदर किसी को 12 सिलेंडर से अलग 13वां सिलेंडर खरीदना है तो उसे बिना सब्सिडी वाला महंगा सिलेंडर खरीदना पड़ेगा.

वहीं तेल में आग लगाकर अब उसे थोड़ा-थोड़ा करके कम किया जा रहा है. लगातार 16 दिन आम जनता को लूटकर अब तेल की कीमतों में कमी की जा रही है. हालांकि तेल की इन कीमतों में कटौती कोई रुपये-दस रुपये नहीं की जा रही बल्कि मामूली यानी कुछ पैसे की राहत दी जा रही है.

पहले दिन जहां 60 पैसे की राहत मिली थी लेकिन दोपहर होते-होते वो 1 पैसे में बदल गई. उसके बाद दूसरे दिन 7 पैसे की कटौती की गई जबकि तीसरे दिन फिर से 6 पैसे की गिरावट की गई है. पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार तीसरे दिन दिल्ली, कोलकाता, मुबई और चेन्नई में कुल 6 पैसे प्रति लीटर की गिरावट की गई है.

First published: 1 June 2018, 9:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी