Home » बिज़नेस » AGR: Supreme Court rejects Airtel-Vodafone Idea's review petition
 

Airtel-Vodafone Idea को सुप्रीम कोर्ट से झटका, AGR मामले में खारिज की समीक्षा याचिका

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 January 2020, 18:03 IST

Supreme Court rejects Airtel-Vodafone Idea review petition: सुप्रीम कोर्ट ने टेलिकॉम कंपनियों एयरटेल और वोडाफोन आइडिया की एजीआर से संबधित समीक्षा याचिका को खारिज कर दिया है. टेलिकॉम कंपनियों ने सुप्रीम कोर्ट में उसके 24 अक्टूबर के फैसले की समीक्षा का अनुरोध किया था. इस फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने टेलिकॉम कंपनियों को 14 साल के लंबे विवाद में 92,000 करोड़ की राशि का भुगतान करने के लिए कहा था.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले में तीन-न्यायाधीशों की पीठ ने एजीआर को परिभाषित किया था. दूरसंचार विभाग ने इस केस में लाइसेंस धारक टेलिकॉम कंपनियों के नॉन टेलिकॉम व्यवसाय से होने वाले राजस्व की मांग की थी. पिछले महीने एक समारोह में आदित्य बिड़ला समूह के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला ने कहा था कि वोडाफोन आइडिया को एजीआर पर अगर सरकार की ओर से कोई राहत नहीं मिली तो उन्हें कंपनी बंद करनी पड़ सकती है.

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद टेलिकॉम कंपनियों ने अपने टैरिफ की कीमतों में खूब बढ़ोतरी की थी. रिलायंस जियो के साथ दो दूरसंचार कंपनियों ने दिसंबर के पहले सप्ताह में अपनी सेवाओं की कीमतों में 47% तक की बढ़ोतरी की. सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने AGR बकाया राशि का भुगतान करने और AGR बकाया की मूल राशि का भुगतान करने के लिए 14 साल की अवधि के लिए दंड और ब्याज की छूट मांगी थी.

इस फैसले के बाद वोडाफोन आइडिया और भारती एयरटेल ने सितंबर तिमाही के रिकॉर्ड नुकसान की सूचना दी थी. सितंबर तिमाही में वोडाफोन आइडिया का घाटा 50,922 करोड़ था, जो भारत के कॉर्पोरेट इतिहास में सबसे अधिक था.

बजट 2020: इस बार संसद में शनिवार को पेश किया जा रहा है बजट, जानिए और क्या है नया ?

First published: 16 January 2020, 17:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी