Home » बिज़नेस » agriculture welfare cess implemented on june 1
 

एक जून से महंगा होगा मोबाइल पर बातचीत, रेस्तरां में खाना और हवाई यात्रा

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 6:43 IST
(कैच )

केंद्र सरकार की घोषित 0.5 फीसदी कृषि कल्याण सेस (उपकर) एक जून से सभी सेवाओं पर लागू हो जाएगी. 

कृषि कल्याण सेस का सीधा-सीधा असर मोबाइल फोन बिल, रेस्तरां में खाना, इंश्योरेंस, प्रॉपर्टी और हवाई यात्राएं महंगी हो जाएंगी.  

जिन सेवाओं पर पहले से सर्विस टैक्स(सेवा कर) नहीं लग रहा है वह सेवाएं कृषि कल्याण सेस से बाहर रहेंगी. इस मामले में वित्त मंत्रालय की ओर से नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है.

इस सेस से वित्त संत्रालय को उम्मीद है कि वह किसान और कृषि क्षेत्र में जुड़े लोगों के लिए योजनाओं के लिए 5000 करोड़ रुपये अतिरिक्त कर उगाही कर पाएगी.

इस सेस के लागू होने के बाद तमाम सेवाओं पर सर्विस टैक्स 14.5 फीसदी से बढ़कर 15 फीसदी तक हो जाएगा. 

पिछले साल ही वित्तमंत्री अरुण जेटली ने सेवाकर 12.36 फीसदी से बढ़ाकर 14 फीसदी कर दिया था. 

केंद्र सरकार ने पिछले साल नवंबर में स्वच्छ भारत अभियान का फंड जुटाने के लिए 0.50 फीसदी तक बढ़ा दिया और यह बढ़कर 14.50 फीसदी हो गया था. सरकार के द्वारा कुछ सेवाओं को छोड़कर सेवाकर लगभग सभी सेवाओं पर लगाया जाता है.

First published: 27 May 2016, 6:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी