Home » बिज़नेस » AIRTEL launched new plan to deal with JIO with the help of its holding company Netherlands B.V.
 

JIO को पछाड़ने के लिए AIRTEL का नया प्लान, 'बीवी' के जरिये जुटाएगा 1 खरब रुपये

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 May 2018, 12:49 IST

टेलीकॉम इंडस्ट्री में आज कल कंपनियों के बीच घमासान मचा हुआ है. JIO को टक्कर देने के लिए अब AIRTEL नया प्लान लेकर आया है. एयरटेल, JIO को कड़ी टक्‍कर देने की कोश‍िश में लगा है. इसके लिए अब एयरटेल ने एक बड़ा कदम उठाया है. भारती एयरटेल ने अपने अफ्रीकी बिजनेस को शेयर बाजार में लिस्ट कराते वक्त 25 पर्सेंट हिस्सेदारी बेचकर 1.5 अरब डॉलर (करीब 1 खरब रुपये) तक जुटाने की योजना बनाई है.

इकनॉमिक्‍स टाइम्‍स की खबर के अनुसार, कंपनी अफ्रीकी बिजनेस को भारती एयरटेल इंटरनेशनल (नीदरलैंड्स) बीवी (बेन बीवी) नाम की होल्डिंग कंपनी के जरिए मैनेज करती है. सूत्रों ने बताया कि 2019 की शुरुआत में इसकी लिस्टिंग लंदन शेयर बाजार में हो सकती है.

ये भी पढ़ें- Vodafone ने यूर्जस के लिए निकाला धांसू पैक, 3GB डेटा के साथ देगा ये सब फ्री

इससे मिलने वाले पैसे से भारत में अन्य कंपनियों से मुकाबला करेगी. भारत में एयरटेल को मार्च 2018 में पहली बार तिमाही आधार पर नुकसान हुआ है, जबकि इसी अवधि में उसका अफ्रीकी कारोबार मुनाफे में रहा. सूत्रों के अनुसार अफ्रीकी बिजनेस की लिस्टिंग पर तेजी से काम चल रहा है. 2019 की शुरुआत में इसे लंदन स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट कराया जा सकता है. एयरटेल ने 2010 में अफ्रीकी टेलिकॉम मार्केट में कदम रखा था. 7 साल बाद इसने मुनाफा कमाना शुरू कर दिया है.

ये भी पढ़ें- Flipkart को साथ मिलकर किया खड़ा, क्या अब बेचने पर पैदा हो गए मतभेद?

सूत्रों के अनुसार, इस फर्म में एयरटेल 25 पर्सेंट हिस्सेदारी बेचकर करीब 1 से लेकर 1.5 अरब डॉलर तक रकम जुटाने की सोच रही है. 2019 में कभी भी लिस्टिंग हो सकती है. इसका मतलब यह है कि वैल्यूएशन के अपर एंड पर कंपनी की कीमत 6 अरब डॉलर (करीब 4 खरब) लगाई जा सकती है. इस खबर के लिए एयरटेल ने फिलहाल कोई टिप्पणी करने से मना कर दिया. कंपनी का स्टॉक बीएसई पर गुरुवार को 0.9 प्रतिशत की गिरावट के साथ 404.40 रुपये पर रहा.

ये भी पढ़ें- TCS, Infosys सहित देश की चार टॉप IT कंपनियों ने बीते साल दी महज इतनी नौकरियां

गौरतलब है कि जहां एक तरफ अफ्रीकी देशों में एयरटेल का मुनाफा बढ़ रहा है तो भारत में उसकी हालत खराब हो रही है. इस साल मार्च में एयरटेल के अफ्रीकी बिजनेस ने मुनाफे का पहला साल पूरा किया है. कंपनी को पिछले वित्त वर्ष में 20,156 करोड़ की रेवेन्‍यू पर 1,827 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है. वहीं, भारत में 15 साल में पहली बार उसे पिछली तिमाही आधार पर घाटा हुआ. मार्च 2018 क्वार्टर में कंपनी को 652 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है.

नीदरलैंड्स मे मौजूद होल्डिंग कंपनी के जरिये एयरटेल 14 अफ्रीकी देशों में टेलिकॉम ऑपरेशंस को मैनेज करती है. एयरटेल नाइजीरिया, चाड, कांगो-ब्राजाविल, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो, गैबॉन, मेडागास्कर, केन्या, मलावी, सेशेल्स, तंजानिया, यूगांडा, जांबिया और रवांडा में मौजूद है.

ये भी पढ़ें-  BHIM App से अब हर माह कमाएं इतने रुपये, 1 रुपये के ट्रांजेक्शन पर भी मिलेगा कैशबैक

First published: 5 May 2018, 12:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी