Home » बिज़नेस » Alibaba buys pak E commers company Daraz to expand business in Pakistan
 

पाकिस्तान में भी हुई Walmart-Flipkart जैसी डील, अलीबाबा ने खरीदा इस कंपनी को

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 May 2018, 18:42 IST

अमेरिकी और चीनी कंपनियां कैसे पूरी दुनिया को अपने गिरफ्त में ले रही हैं इसका अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि अमेरिकी कंपनी वालमार्ट और चीनी कंपनी अलीबाबा ने दो बड़े सौदे कर डाले. वालमार्ट ने जहां भारत की दिग्गज कंपनी फ्लिपकार्ट में 77 फीसदी हिस्सेदारी पर कब्ज़ा कर लिया वहीं चीन की दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा ने पाकिस्तानी ई-कॉमर्स कंपनी दराज को खरीदा है.

इस कदम के साथ ही अलीबाबा ने दक्षिण एशियाई बाजार में अपनी पकड़ा को और मजबूत बना लिया है. अलीबाबा भारत में पहले ही कदम रख चुकी है. दराज की स्थापना 2012 में हुई थी और इसे बर्लिन की एक कंपनी रॉकेट इंटरनेट से खरीदा गया था. फ़िलहाल दराज पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, म्यांमार और नेपाल कारोबार कर रही है. कंपनी के 30,000 से ज्यादा विक्रेता और 500 ब्रांडों से जुडी है.

 

अमेरिकी रिटेल कंपनी वॉलमार्ट इंक ने बुधवार को फ्लिपकार्ट में 16 अरब डॉलर के अधिग्रहण की घोषणा कर ली है . इस डील को ई -कॉमर्स सेक्टर में अभी तक की दुनिया की सबसे बड़ी डील माना जा रहा है. वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट में 77 फीसदी अधिग्रहण किया है. अमेरिकी कंपनी के लिए यह सबसे बड़ी खरीद भी है.

इस सौदे के बाद फ्लिपकार्ट के संस्थापकों में से एक सचिन बंसल पूरी तरह इस कंपनी से बाहर निकल गए हैं. माना जा रहा है कि अब भारतीय बाजार में वॉलमार्ट और अमेज़न का मुकाबला देखने को मिलेगा. वॉलमार्ट के अध्यक्ष डौग मैकमिलन ने कहा, "भारत दुनिया के सबसे आकर्षक खुदरा बाजारों में से एक है, इसके आकार और विकास दर को देखते हुए हमने निवेश का मन बनाया है.

ये भी पढ़ें : Walmart-Flipkart डील हुई फाइनल, वालमार्ट ने 16 अरब डॉलर में खरीदा Flipkart का 77 फीसदी हिस्सा

First published: 9 May 2018, 18:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी