Home » बिज़नेस » Amazon Invest Rs 26 bn in India strategy to fight Walmart's entry?
 

Walmart की एंट्री को बेअसर करने के लिए Amazon पहले की बना चुका रणनीति ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 May 2018, 12:58 IST

फ्लिपकार्ट सौदे में वॉलमार्ट से हारने के बाद अमेज़न के मुख्य कार्यकारी जेफ बेजोस यह दिखाने के लिए उत्सुक हैं कि इस सौदे से भारत में उनके व्यवसाय पर कोई असर नहीं पड़ा है. इसी कड़ी में बेजोस ने भारत में अमेज़न को और मजबूत बनाने के लिए फंड का ऐलान किया है. रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (आरओसी) के दस्तावेजों के मुताबिक पिछले महीने के आखिर में अमेज़न के ई मार्केट प्लेस में 26 बिलियन का निवेश किया है.

सीएटल स्थित इस अमेरिकी कंपनी ने इस महीने की शुरुआत में फ्लिपकार्ट में 12 बिलियन डॉलर के निवेश के जरिये हिस्सेदारी हासिल करने के लिए बोली लगाई थी लेकिन फ्लिपकार्ट बोर्ड ने वॉलमार्ट के साथ सौदे को पसंद किया. अमेज़न ने यह निवेश उस वक़्त किया है जब उसके प्रतिद्वंदी वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट में 15 अरब डॉलर के सौदे के माध्यम से बड़ा हिस्सा खरीद लिया है.

इस ताजा निवेश ने भारत में अमेज़न के ई-कॉमर्स व्यवसाय में 223.9 अरब डॉलर की ताकत दी है. अमेज़ॅन ने वित्तीय वर्ष 2017-18 में चार राउंड में अपनी बाजार इकाई में 81.5 अरब रुपये का निवेश किया था. बेज़ोस ने इस निवेश के जरिये भारत में ऑनलाइन खुदरा बाजार पर कब्ज़ा करने की दौड़ जारी रखी है.

ये भी पढ़ें : 200 अरब डॉलर के भारतीय बाजार पर कब्जे को लेकर दो अमेरिकी कंपनियों में छिड़ी जंग

वॉलमार्ट के इस सौदे के बाद वह भारत के 1.3 बिलियन लोगों के उभरते बाजार पर कब्ज़ा लेगा. गौरतलब है कि Bentonville Arkansas स्थित कंपनी दुनिया का सबसे बड़ा खुदरा विक्रेता है, लेकिन यह अमेज़ॅन के खिलाफ लगातार संघर्ष कर रही है. माना जा रहा है कि इन दो भारतीय कंपनियों  की जंग अब भारत में भी देखने को मिलेगी. 

दूसरी ओर अमेरिका के बाद चीन भी भारत के ई- कॉमर्स बाजार में सेंध लगाना चाहता है. चीन का अलीबाबा ग्रुप भारत में लगातार अपने पांव पसार रहा है. भारत में अमेज़ॅन दूसरे सबसे बड़े ई-कॉमर्स प्लेयर और फ्लिपकार्ट का बड़ा प्रतिद्वंद्वी है.

First published: 9 May 2018, 12:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी