Home » बिज़नेस » Amazon lists over 1,000 job openings in Hyderabad, Bangalore despite new e-commerce rules
 

इन 2 शहरों में Amazon में हैं 1000 से ज्यादा नौकरियां, इस पोस्ट पर है सबसे ज्यादा मांग

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 January 2019, 14:07 IST

संशोधित ई-कॉमर्स नीति के बावजूद अमेज़न ने भारत में इंजीनियरों और प्रबंधकों को काम पर रखना बंद कर दिया है. अमेज़न पर नौकरी लिस्टिंग के विश्लेषण से पता चलता है कि दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी के पास भारत में 1,400 से अधिक वैकेंसी हैं. इसके तहत बैंगलोर और हैदराबाद में 1,000 से अधिक ओपनिंग्स हैं. जहां सॉफ्टवेयर इंजीनियर सबसे अधिक मांग में है.

अमेज़न की कैरियर साइट पर शहरों की लिस्टिंग से पता चलता है कि सिएटल के बाद 661 वैकेंसी के साथ बैंगलोर दूसरे स्थान पर है, जहां सबसे ज्यादा रिक्तियां हैं. यहां लगभग 9,000 पद ओपनिंग्स हैं. वाणिज्य मंत्रालय द्वारा फ्लिपकार्ट और अमेज़न जैसे विदेशी प्रत्यक्ष निवेश के साथ 26 दिसंबर को निर्णय लेने की घोषणा के बाद बड़ी संख्या में इन नौकरियों को साइट पर पोस्ट किया गया था, जिसमें फ़्लिपकार्ट और अमेज़न जैसी कंपनियों के उत्पादों को बेचना शामिल था.

 

बैंगलोर के बाद हैदराबाद 460 ओपनिंग्स के साथ भारत में दूसरे स्थान पर है. चेन्नई, मुंबई और गुड़गांव भी अमेज़न की ओपनिंग्स हैं. जिसमें खुदरा बिक्री, बाज़ार और विज्ञापन व्यवसायों में सबसे बड़ी संख्या में अमेज़न वेब सेवाएँ हैं.
रॉयटर्स के अनुसार PwC को डर था कि नई ई-कॉमर्स पॉलिसी से 1.1 मिलियन कम नौकरियां पैदा हो सकती हैं. पीडब्ल्यूसी के ड्राफ्ट विश्लेषण से यह भी पता चलता है कि भारत के ई-कॉमर्स उद्योग में बिक्री 2022 तक 46 बिलियन डॉलर घट सकती है.

भारत के 18 बिलियन डॉलर के ई-कॉमर्स उद्योग में अमेज़न 5.5 बिलियन डॉलर का निवेश करने के लिए प्रतिबद्ध है जबकि वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट में 77% हिस्सेदारी हासिल करने के लिए 16 बिलियन डॉलर का खर्च किये हैं. फ्लिपकार्ट और अमेज़न दोनों ने ई-कॉमर्स में संशोधित एफडीआई मानदंडों का अनुपालन करने के लिए 1 फरवरी की समयसीमा बढ़ाने की मांग की है.

ये भी पढ़ें : रिपब्लिक डे पर Flipkart और Amazon में छिड़ेगी जंग, लैपटॉप, TV और स्मार्टफोन पर 40 हजार तक की छूट

First published: 17 January 2019, 14:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी