Home » बिज़नेस » Ambani has idea to fight pollution, will use plastic in road construction
 

प्रदूषण से लड़ने का आइडिया, अंबानी सड़क निर्माण में करेंगे प्लास्टिक का इस्तेमाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 January 2020, 18:17 IST

बढ़ते प्रदूषण के बीच भारत की सबसे बड़ी पेट्रोकेमिकल कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज सड़क निर्माण में प्लास्टिक का उपयोग करने के लिए एक परियोजना शुरू कर रही है. भारत सालाना लगभग 14 मिलियन टन प्लास्टिक का उपयोग करता है लेकिन देश में प्लास्टिक कचरे के प्रबंधन के लिए कोई व्यवस्था नहीं है.

एक रिपोर्ट के अनुसार मुकेश अंबानी ने एक कार्यक्रम में कहा ''प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2022 तक भारत से सिंगल यूज प्लास्टिक को समाप्त करने की बात कर रहे हैं लेकिन भारतीयों को प्रदूषण से लड़ने पर ध्यान देना चाहिए न कि प्लास्टिक पर''.

 

रिपोर्ट के अनुसार कंपनी देश के राजमार्ग प्राधिकरण और अलग-अलग राज्यों के साथ काम करना चाहती है. हल्के प्लास्टिक, कैरी बैग या स्नैक रैपर के रूप में इस्तेमाल किया जाता है, आमतौर पर रीसायकल करने के लिए व्यवहार्य नहीं होता है और इसलिए लैंडफिल, स्ट्रीट कॉर्नर या महासागरों में समाप्त होता है.

रिलायंस इंडस्ट्रीज इस प्लास्टिक को काटकर बिटुमेन के साथ मिलाना चाहती है.जो सस्ता और लंबे समय तक चलने वाला है. एनडीटीवी के अनुसार पेट्रोकेमिकल्स कारोबार के सीओओ विपुल शाह ने कहा "(यह) हमारे पर्यावरण और हमारी सड़कों दोनों के लिए एक गेम-चेंजिंग प्रोजेक्ट हो सकता है."


वायु प्रदूषण की निगरानी करने वाले दो समूहों के एक अध्ययन के अनुसार 2018 में भारत के 15 दुनिया के 20 सबसे प्रदूषित शहरों में शामिल थे. नई दिल्ली दुनिया की सबसे प्रदूषित राजधानी मानी गई, जहां स्मॉग के कारण स्कूल कैंसिलेशन, फ़्लाइट डायवर्सिज़न और 20% से अधिक लोगों के लिए अनकही स्वास्थ्य समस्याएं हैं.

कौन खरीदेगा एयर इंडिया, 17 मार्च को होगा फैसला, रेस में टाटा, इंडिगो सहित 9 कंपनियां

First published: 30 January 2020, 18:10 IST
 
अगली कहानी