Home » बिज़नेस » Ambani's salary did not increase for the tenth consecutive year, so stuck on
 

लगातार दसवें साल नहीं बढ़ी मुकेश अंबानी की सैलरी, इतने पर अटकी

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 June 2018, 10:57 IST

सबसे अमीर भारतीय मुकेश अंबानी ने लगातार दसवें साल अपनी सैलरी में कोई बढ़ोतरी नहीं की है. रिलायंस इंडस्ट्रीज में मुकेश अंबानी का सालाना वेतन 15 करोड़ अब भी बना हुआ है. 2008-09 के बाद से अंबानी ने अपने वेतन में भत्ते और कमीशन को मिलाकर 15 करोड़ रूपये रखा है.

गौरतलब है कि 31 मार्च 2018 को समाप्त हुए वित्त वर्ष में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने पूर्णकालिक निदेशकों, निखिल और हिटल मेसवानी की सैलरी में वृद्धि की थी. आरआईएल ने अपनी नवीनतम वार्षिक रिपोर्ट में कहा मुकेश अंबानी के वेतन 15 करोड़ रूपये पर रखा गया है. जो प्रबंधकीय स्तर पर वेतन को मॉडरेट रखने की उनकी व्यक्तिगत मिसाल कायम करने की इच्छा को प्रदर्शित करता है.

इस दौरान अंबानी के चचेरे भाई निखिल आर मेसवानी और हिटल आर मेसवानी ने अपने कपनसेशन में 19.99 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी देखी, उनकी कमाई 2016-17 में 16.58 करोड़ रुपये थी. 2015-16 में निखिल को 14.42 करोड़ रुपये मिले जबकि हिटल ने 14.41 करोड़ रुपये का घर लिया. 2014-15 में प्रत्येक को 12.03 करोड़ रुपये मिले थे.

ये भी पढ़ें : 10वें दिन हुई पेट्रोल-डीजल में अब तक की सबसे बड़ी कटौती, ये हैं नए दाम

सरकार कितने दिन तक देश को चला सकती है यदि देश का सबसे अमीर व्यक्ति सरकार को भुगतान करे. ब्लूमबर्ग ने इसके लिए एक रॉबिन हुड इंडेक्स 2018 बनाया है. इसमें 49 देशों के सबसे अमीर व्यक्तियों को शामिल किया गया है.

इस इंडेक्स में कहा गया है कि सरकार चलाने के दैनिक खर्च के लिए दिसंबर-दिसंबर 2017 के रूप में अपनी नेट वर्थ की तुलना की गयी है. इस सूची में मौजूद कुल 49 अमीरों में से केवल चार महिलाएँ हैं. जो अंगोला, ऑस्ट्रेलिया, चिली और नीदरलैंड से हैं.

First published: 8 June 2018, 10:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी