Home » बिज़नेस » Andhra Pradesh gets 24,500 crore India’s single biggest FDI
 

इस गैर-बीजेपी शासित राज्य में इंडोनेशिया की कंपनी ने किया रिकॉर्ड निवेश, मिलेंगी 15000 नौकरियां

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 January 2019, 12:11 IST

प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के मामले में एक बार फिर से चंद्रबाबू नायडू के आंध्रप्रदेश ने बाजी मार ली. हाल के दिनों में राज्य ने 24,500 करोड़ का एफडीआई प्राप्त किया है. यह निवेश किसी भी राज्य में होने वाला अबतक का सबसे बड़ा विदेशी निवेश है. इंडोनेशियाई पल्प एंड पेपर दिग्गज कंपनी एशिया पल्प एंड पेपर ग्रुप (एपीपी) न केवल भारत की बल्कि दुनिया की किसी भी साइट पर सबसे बड़ी पेपर मिल स्थापित कर रही है, जिसकी क्षमता तटीय आंध्र के प्रकाशम् जिले के रामायपटनम में प्रतिवर्ष 5 मिलियन टन है.

कंपनी ने पहले ही परियोजना के लिए प्रकाशम में तट के साथ 2,500 एकड़ की साइट तय की थी, जो लगभग 15,000 प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष नौकरियां देगा. सूत्रों के अनुसार यूनिट में पैकेजिंग पेपर, स्पेशलिटी पेपर के साथ-साथ राइटिंग और प्रिंटिंग पेपर का भी उत्पादन किया जाएगा.

इसकी पुष्टि करते हुए आंध्र प्रदेश आर्थिक विकास बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जे कृष्णा किशोर नेबताया, “मैं समझता हूं कि 3.5 बिलियन डॉलर का निवेश एक साइट, ग्रीनफील्ड परियोजना में भारत का अब तक का सबसे बड़ा एफडीआई है. यह 4,000 प्रत्यक्ष रोजगार और लगभग 10,000 अप्रत्यक्ष नौकरियों के अलावा 50,000 से अधिक दलहनी किसानों को लाभान्वित करेगा.”

उन्होंने बताया 'हम यह सुनिश्चित करने के लिए इन्वेस्ट इंडिया के साथ काम करेंगे कि मेगा प्रोजेक्ट को केंद्र से पर्यावरण मंजूरी सहित सभी मंजूरी 12 महीने (दिसंबर 2019 तक) मिल जाए.' इंडियन पेपर मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन के महासचिव रोहित पंडित ने कहा कि 5 mtpa पेपर मैन्युफैक्चरिंग सुविधा न केवल भारतीय मानकों से, बल्कि वैश्विक मानकों से भी बड़ी होगी.

भारत में अब तक का सबसे बड़ा एफडीआई ओडिशा में 12 बिलियन डॉलर की पॉस्को स्टील परियोजना थी जिसे 2005 में घोषित किया गया था लेकिन कोरियाई स्टील प्रमुख ने 2017 में इस परियोजना से हाथ खींच लिया था.

First published: 7 January 2019, 12:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी