Home » बिज़नेस » Another scam in OBC Bank, named son of Punjab's Amarinder Singh son-in-law
 

OBC बैंक में एक और घोटाला, आरोपियों में पंजाब के सीएम अमरिंदर के दामाद का नाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 February 2018, 12:12 IST

सीबीआई ने बैंक धोखाधड़ी से जुड़े एक और बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा किया है. यह मामला देश की सबसे बड़ी चीनी मिलों में से एक हापुड़ की सिंभौली शुगर्स लिमिटेड से जुड़ा हुआ है. सीबीआई ने इसके अधिकारियों के खिलाफ करीब 110 (109.08cr) करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है.

इस मामले के आरोपियों में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के दामाद समेत 13 लोगों के नाम सामने आये है. सीबीआई ने सिंभौली शुगर्स  लिमिटेड, इसके अध्यक्ष गुरुमित सिंह मान, उप प्रबंध निदेशक गुरपाल सिंह के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

मिल के उपमहाप्रबंधक (डीजीएम) गुरपाल सिंह भी शामिल हैं. वे पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के दामाद हैं. बैंक ने इस मामले में सीबीआई से 17 नवंबर 2017 को शिकायत की थी लेकिन सीबीआई ने 22 फरवरी को केस दर्ज किया है.

क्या है मामला 

सिंभावली शुगर लिमिटेड कंपनी पर लगभग 200 करोड़ रुपये का घपला करने का आरोप है. बैंक की ओर से दायर की गई शिकायत में कहा गया है कि कंपनी ने साल 2011 में रिजर्व बैंक की गन्‍ना किसानों के लिए लाई गई योजना के तहत ओरिएंटल बैंक ऑफ़ कॉमर्स  (OBC) से 97.85 करोड़ का लोन लिया. इस रकम को गन्‍ना किसानों को वित्‍तीय मदद के रूप में बांटा जाना था, लेकिन कंपनी ने फर्जीवाड़ा करके इस रकम को अपने काम के लिए खर्च कर लिया.  यह लोन 31 मार्च 2015 को एनपीए हो गया.

इस लोन के बाद कंपनी ने पिछले लोन को चुकाने के लिए 110 करोड़ रु का नया लोन लिया. एफआईआर के अनुसार दूसरे लोन को नोटबंदी के 20 दिन बाद 29 नवंबर 2016 को एनपीए घोषित कर दिया गया. एफआईआर के अनुसार बैंक से 97.85 करोड़ रु की धोखाधड़ी का मामला है लेकिन असल में बैंक को 109.08 करोड़ रु का नुकसान हुआ है.

सीबीआई ने सिंभावली शुगर्स लिमिटेड के खिलाफ मामले के सिलसिले में दिल्ली और उत्तरप्रदेश में कई स्थानों पर छापेमारी की है। छापेमारी के साथ सीबीआई ने आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है.
सिम्भावली का नाम बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में भी लिस्टेड है.

First published: 26 February 2018, 12:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी