Home » बिज़नेस » arun jaitley: may be mallya business model was wrong
 

अरुण जेटली: माल्या का ‘कारोबारी मॉडल’ गलत हो सकता है

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 April 2016, 16:44 IST

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने विजय माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस के ‘कारोबारी माडल’ पर सवाल उठाते हुए कहा है कि भारत में विमानन क्षेत्र कुल मिलाकर अच्छा प्रदर्शन कर रहा है और कई कंपनियां इससे अच्छा मुनाफा भी कमा रही हैं.

पढ़ें: विजय माल्या का पासपोर्ट निलंबित

जेटली का यह बयान उस संदर्भ में देखा जा रहा है, जब माल्या की कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस लंबे समय से बंद पड़ी है और विदेश मंत्रालय ने माल्या के राजनयिक पासपोर्ट को चार हफ्ते के लिए निलंबित कर दिया है.

'माल्या से सरकार का लेना-देना नहीं'

विजय माल्या की किंगफिशर समेत कई कंपनियों पर बैंकों का 9000 करोड़ रुपए से ज्यादा का कर्ज बकाया है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के कई बार समन भेजे जाने के बावजूद माल्या चुपके से लंदन चले गए और अब तक वापस नहीं लौटे हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक अरुण जेटली ने विजय माल्या से जुड़े एक सवाल पर शुक्रवार को कहा, " मैं इस पर कोई अंतिम राय नहीं दे रहा हूं. ऐसा किसी कंपनी विशेष के कारोबारी मॉडल के कारण हो सकता है. "

पढ़ें: विजय माल्या ने ईडी से पेश होने के लिए मई तक का समय मांगा

इसके साथ ही जेटली ने कहा, " जहां तक वसूली का सवाल है, माल्या के मामले में बैंक सभी संभव कदम उठा रहे हैं. जांच एजेंसियां इस बात की भी जांच कर रही हैं कि किसी दंडात्मक प्रावधान का उल्लंघन तो नहीं हुआ है. "

वित्त मंत्री ने कहा, " मुझे नहीं लगता कि माल्या के मामले का सरकार से कुछ लेना-देना है क्योंकि अनेक ऐसे मामले अदालतों में लंबित हैं. "

शुक्रवार को निलंबित हुआ था पासपोर्ट

जेटली ने कहा कि मौजूदा नियमों के तहत कोई संसद सदस्य अगर ‘दिवालिया घोषित’ होता है तो उसकी सदस्यता समाप्त हो सकती है और इसके लिए दिवालिया कानून जरूरी है.

प्रवर्तन निदेशालय के तीन समन के बावजूद विजय माल्या ने पेशी के लिए भारत लौटने से इनकार कर दिया था. ईडी उनके खिलाफ आईडीबीआई बैंक के कर्ज से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच कर रहा है.

शुक्रवार को विदेश मंत्रालय ने माल्या राजनयिक पासपोर्ट निलंबित कर दिया था. साथ ही एक हफ्ते के अंदर माल्या से जवाब तलब किया गया है.

पढ़ें: माल्या का प्रस्ताव बैंकों को मंजूर नहीं, सुप्रीम कोर्ट ने मांगा संपत्ति का ब्योरा

First published: 16 April 2016, 16:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी