Home » बिज़नेस » Arvind Panagariya said Modi is ‘courageous’ for granting ‘Institute of Eminence’ tag to Jio Institute
 

Jio इंस्टिट्यूट: पनगढ़िया बोले- कोई भी PM ऐसी घोषणा करने से पहले दो–तीन बार सोचता है

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 July 2018, 16:04 IST

नीति आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने गुरुवार को मुकेश अंबानी के रिलायंस समूह द्वारा समर्थित जियो इंस्टीट्यूट का चयन प्रतिष्ठित संस्थानों में करने के सरकार के फैसले के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा की. पनगढ़िया ने कहा, मोदी उन साहसी नेताओं में से एक है जिन्हें मैंने पहले कभी नहीं देखा.

उन्होंने कहा "भारत के माहौल को देखते हुए कोई भी प्रधानमंत्री किसी ऐसी चीज के बारे में घोषणा करने से पहले दो – तीन बार सोचता है, जो अभी अस्तित्व में ही नहीं आई है क्योंकि इसके बाद प्रेस का दबाव झेलना होता है. पनगढ़िया ने कहा कि यही वो चीज है जिसकी आपको जरूरत है क्योंकि किसी नए संस्थान की शुरुआत से ही आप नियम बना सकते हैं जबकि पहले से मौजूद संस्थान में बदलाव करना ज्यादा कठिन है.

पनगढ़िया ने कहा आर्थिक वृद्धि को लेकर पनगढ़िया ने कहा, 'चीन ने पिछले 15-20 साल में आर्थिक वृद्धि हासिल की है. वह वाशिंगटन में यूएस-भारत रणनीतिक और साझेदारी शिखर सम्मेलन में बोल रहे थे. सोमवार को सरकार ने भारत में तीन सार्वजनिक और तीन निजी शैक्षिक संस्थानों को "प्रतिष्ठित संस्थान का दर्जा दिया.

इस टैग के साथ सार्वजनिक संस्थानों को अगले पांच वर्षों में 1000 करोड़ रुपये का विशेष वित्त पोषण मिलेगा.
केंद्र के फैसले की कई लोगों की आलोचना की. इतिहासकार रामचंद्र गुहा, वकील प्रशांत भूषण और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के प्रोफेसर आयशा किदवई शामिल हैं.

First published: 13 July 2018, 15:57 IST
 
अगली कहानी