Home » बिज़नेस » Asia Pacific Trade Agreemment: India reduces duties on 3,142 imports from China
 

ट्रम्प को जवाब देने के लिए 3,142 चाइनीज आइटम्स पर भारत ने कम किया आयात शुल्क

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 July 2018, 15:27 IST

भारत-चीन व्यापार को बढ़ावा देने के लिए उठाये गए एक महत्वपूर्ण कदम में भारत ने सोमवार को चीन से आयात होने वाली 3,142 से अधिक वस्तुओं पर आयात शुल्क में कटौती की है. इससे पहले चीन ने 8500 से अधिक वस्तुओं पर आयात शुल्क कम कर दिया था. दोनों देशों द्वारा टैरिफ में कमी एशिया प्रशांत व्यापार समझौते (एपीटीए) के माध्यम से व्यापार को उदार बनाने के लिए उनकी प्रतिबद्धताओं का हिस्सा माना जा रहा है. यह नई दरें 1 जुलाई से प्रभावी होगी.

दोनों देशों के इस कदम से अमेरिका से आयात में कमी आने की उम्मीद है. भारत ने एपीटीए पर हस्ताक्षर किए है और यह एशिया-प्रशांत क्षेत्र के देशों के बीच सबसे पुराना व्यापार समझौता है जो 1975 में हुआ था. चीन के अलावा, दक्षिण कोरिया, श्रीलंका, बांग्लादेश और लाओस के साथ भारत का व्यापार 4 जनवरी 2017 को एपीटीए मंत्रिस्तरीय परिषद द्वारा तय किए गए नवीनतम टैरिफ कमी के परिणामस्वरूप सुधारने के लिए तैयार है.

 

वरिष्ठ वाणिज्य विभाग के अधिकारियों ने संकेत दिया कि डेढ़ साल बाद फैसले को लागू करने का निर्णय ट्रम्प को जवाब देने का एक जरिया हो सकता है. एपीटीए कई दशकों से काम कर रहा है लेकिन इसके तहत कवर किए गए सामान छोटे हैं.

चीनी मीडिया के अनुसार 2015 से बीजिंग द्वारा किए गए टैरिफ कटौती के पांचवें दौर में, 1,44 9 उपभोक्ता वस्तुओं पर आयात शुल्क 15.7 प्रतिशत से 6.9 प्रतिशत तक कम किया गया है. इस सूची में घरेलू उपकरणों, खाद्य और पेय पदार्थ, सौंदर्य प्रसाधन और दवाएं शामिल हैं.

मार्च में भारत और चीन अपने उत्तरी पड़ोसी के साथ $ 62.903 बिलियन के भारत के व्यापार घाटे को कम करने पर सहमत हुए थे. यह निर्णय लिया गया कि गैर-टैरिफ बाधाओं को विशिष्ट क्षेत्रों में पहचाना जाएगा और हटा दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें : अपनी ही कंपनी द्वारा बुक किए होटल रूम को साफ करने वाला शख्स ऐसे बना अरबपति

First published: 3 July 2018, 15:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी