Home » बिज़नेस » At the time of ATM Transaction know the rule and safety Rule, your Rupees and pin will safe
 

अब ATM से पैसे निकालने के बाद जरुर करें ये काम नहीं तो आपके पिन और पैसे की हो सकती है चोरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 November 2018, 18:12 IST

हमें लगभग रोजाना ATM फ्रॉड की ख़बरें सुनने को मिलती है तब हमारे माथे पर भी चिंता की लकीरें स्वतः उभर आतीं हैं और हम अपने पैसे की सुरक्षा को लेकर तरह-तरह के विकल्पों पर विचार करते हैं. लेकिन जानकारी के आभाव में सटीक सेफ्टी उपायों के बजाए भ्रमित रहते हैं. यदि आप एटीएम में आपकी पिन नंबर और पैसा रोकने के लिए सुरक्षा युक्तियों की तलाश में हैं तो आपको यहां सर्वोत्तम तरीका बताया जा रहा है.

 

दो बार 'कैंसिल' बटन दबाने का नहीं है सेफ्टी-कनेक्शन इससे पिन और पैसा नहीं रहेगा सुरक्षित

हाल ही में सोशल मीडिया WhatsApp, ट्विटर और फेसबुक पर एक खबर वायरल हो रही थी जिसमें बताया गया है कि अपने ATM पिन चोरी होने से रोकने के लिए ग्राहकों को "दो बार कैंसिल / रद्द करने" वाले बटन दबाने से आपका पिन चोरी नहीं होता है यानि गोपनीय रहता है और पैसा सुरक्षित. लेकिन हमारी पड़ताल में दो बार कैंसिल बटन दबाने का ये दवा गलत साबित हुआ. दो बार 'कैंसिल' दबाने से अगर आपको लगता है कि आपका पैसा और पिन सुरक्षित रहेगा तो इसपर कतई विश्वास न करें इसका सेफ्टी से कोई कनेक्शन नहीं है.

इसकी सत्यता का पता लगाने का सबसे विश्वसनीय तरीका RBI के निर्देश, ATM कार्ड जारी करने वाली एजेंसी और बैंक की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी है. अमेरिकी बैंकर्स एसोसिएशन ने भी बताया है कि दो बार कैंसिल बटन दबाने का सुरक्षा मानकों से कोई लेना-देना नहीं है और असुरक्षित सोशल मीडिया पोस्ट से सलाह से बचने की सलाह दी है तथा सुरक्षा के कुछ बेहतर उपाय भी बताये हैं.

इस युक्ति से रहेंगे पैसे सुरक्षित

अपना पिन नंबर याद रखें और इसे नीचे न लिखें और / या इसे अपने वॉलेट में भूलकर भी नहीं रखें.

ऑनपूकर्स या कैमरों द्वारा इसे देखने से रोकने के लिए अपना पिन दर्ज करते समय कीपैड को कवर करें.

अपना पिन नियमित रूप से बदलें सप्ताह / महीने में एक बार जरूर.

व्यक्तिगत जानकारी के आधार पर अपना पिन न चुनें (जैसे जन्मतिथि, एड्रेस अदि)

ट्रांजेक्शन के लिए किसी से भी मदद न लें और पिन भूलकर दूसरे से शेयर न करें

एटीएम मशीन के आसपास कोई संदिग्ध सामान स्पाई कैमरा या अन्य चीजें रखी हो तो तुरंत शिकायत करें क्योंकि अपका पिन इसमें कैद हो सकता है.

ट्रांजेक्शन के बाद जब तक एटीएम मशीन में कार्ड डालने के स्थान पर ग्रीन लाइट न जले बहार न निकलें.

ATM पिन बताना यानि तिजोरी की चाबी पड़ोसियों को सौंप देना

डिजिटल इंडिया के बैनर तले हमारे देश की अर्थव्यवस्था को कैशलेश - इकॉनमी की ओर ले जाने की पहल सरकार कर रही है लेकिन लोगों की नकदी यानि कैश पर निर्भरता कम होने का नाम नहीं ले रही है. आम जरूरतों के लिए लोग नियमित तौर पर ATM से पैसा निकालते हैं. अक्सर ATM में देखा जाता है ट्रांजक्शन के लिए लोग दूसरों से मदद भी लेते हैं लेकिन ऐसा करना ठीक वैसा ही है जैसे आप अपनी तिजोरी घर से बाहर रखकर उसकी चाबी का पता पड़ोसियों को सौंप दें.

First published: 29 November 2018, 18:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी