Home » बिज़नेस » ATM Card online Fraud, know precautions about ATM Security, 12 lakh rupees atm scam in delhi
 

चिप वाले ATM कार्ड से जमकर हो रही है पैसे की चोरी, ऐसे करें बचाव, यहां हुआ 10 लाख रूपये का फ्रॉड

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 April 2019, 17:11 IST

बैंक से कैश निकालने का सबसे आसान और लोकप्रिय तरीका है एटीएम कार्ड से पैसे की निकासी करना. लेकिन ATM से पैसों का ट्रांजैक्शन करना सुविधापूर्ण तो है पर इसमें जोखिम भी है. राजधानी दिल्ली सहित देश के कई इलाके में एटीएम फ्रॉड के मामले लगातार बढ़ रहे हैं.

ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए RBI के निर्देशानुसार सभी बैंकों ने चिप वाला एटीएम कार्ड जारी किया है. लेकिन अपराधियों ने चिपवाले एटीएम कार्ड का भी तोड़ खोज निकाला है और एटीएम क्लोनिंग के जरिए इस धोखाधड़ी को अंजाम दे रहे हैं. इस फर्जीवाड़े से बचने के लिए आगे कुछ सावधानी और उपाय भी सुझाएं गए हैं जिसका पालन कर आप अपने पैसे को हद तक सुरक्षित कर सकते हैं.

पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में ATM गैंग एक्टिव हो गया है. दिल्ली एनसीआर में पिछले कुछ दिनों से अलग-अगल बैंक के खाताधारकों के खाते से 10 लाख से अधिक की रकम निकाल ली गई है. सिर्फ पूर्वी दिल्ली में ऐसे 12 मामले सामने आए हैं.

ऐसे बचें ATM फ्रॉड से

क्या है कार्ड क्लोनिंग

एटीएम कार्ड की क्लोनिंग से में पहले स्किमर डिवाइस या स्वाइप मशीन के माध्यम से कार्ड का ब्योरा लिया जाता है. इसके बाद जालसाज सॉफ्टवेयर की मदद से एटीएम कार्ड का क्लोन तैयार कर लेते हैं जो कि हूबहू आपके एटीएम की कॉपी होती है और इस तरह फर्जी कार्ड से पैसा निकाल लिया जाता है.

ऐसे बचें फर्जीवाड़े से

अकाउंट में SMS एसएमएस अलर्ट जरूर रखें

जब भी एटीएम कार्ड से रुपये निकालने जाएं, एटीएम मशीन में एक्स्ट्रा कैमरे को तलाश करने की कोशिश करें.

जहां कार्ड स्वैप किया जाता है, उस जगह को हिलाकर देखें, यदि वहां कैमरा लगा होगा तो वह खुद निकल आएगा

एटीएम से बाहर निकलने के बाद एक बार क्लियर बटन जरूर दबाएं .

लेनदेन की रसीद अपने पास रखें, एटीएम के पास फेंककर न जाएं

नकदी निकलने के बाद एटीएम के सामने खड़े होकर पैसा न गिनें.

पिन दर्ज करते समय एटीएम के नजदीक खड़े रहें और हाथ से की-पैड को ढक लें.

चिप वाला एटीएम कार्ड माना जाता है सुरक्षित

चिपवाले एटीएम कार्ड को सुरक्षा की दृष्टि से काफी बेहतर माना जाता है. चिप के कारण इन्हें क्लोन करना आसान नहीं है इसके वावजूद इसका क्लोन तैयार कर साइबर अपराधी फ्रॉड को अंजाम दे रहें हैं. लोकसभा में पेश रिज़र्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक, वर्ष 2017-18 में एटीएम कार्ड की क्लोनिंग कर पैसा उड़ाने और ऑनलाइन जालसाजी से जुड़े कुल 972 मामले सामने आए हैं.

First published: 9 April 2019, 17:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी