Home » बिज़नेस » Auto crisis: 3000 temporary workers jobs in Maruti Suzuki
 

ऑटो संकट : मारुति सुजुकी में 3000अस्थाई वर्करों की नौकरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 August 2019, 16:03 IST

मारुति सुजुकी का कहना है कि ऑटोमोबाइल उद्योग में जारी मंदी के कारण मारुति सुजुकी इंडिया (MSI) के 3,000 से अधिक अस्थायी कर्मचारियों की नौकरी चली गई है. एक रिपोर्ट अनुसार एमएसआई के अध्यक्ष आर सी भार्गव ने कहा कि अस्थायी श्रमिकों के अनुबंधों को मंदी के कारण नवीनीकृत नहीं किया गया है. हालांकि स्थाई मजदूरों पर इसका असर नहीं पड़ा है.

बिजनेस लाइन की रिपोर्ट के अनुसार कंपनी के एक अधिकारी ने बताया कि यह व्यवसाय का एक हिस्सा है, जब मांग बढ़ती है, तबअधिक अनुबंधित श्रमिकों को काम पर रखा जाता है और ऐसे ही कम भी किया जाता है."

 

ऑटोमोबाइल सेक्टर अर्थव्यवस्था में अधिक नौकरियों के लिए जाना जाता है. इस सेक्टर के प्रभावित होने से बिक्री, सेवा, बीमा, लाइसेंस, वित्तपोषण, सहायक उपकरण, ड्राइवर, पेट्रोल पंप, सेक्टर की बिक्री पर भी असर पड़ता है. हालांकि जानकारों का यह भी कहना है कि आगामी त्योहारी सीजन में ग्रामीण बिक्री में तेजी आ सकती है.

ऑटो सेक्टर में मंदी के करण कई दिग्गज कंपनियों को अपने प्लांट बंद करने पड़े हैं. एक आंकड़े के अनुसार इस मंदी के कारण देशभर में लगभग 300 डीलरशिप बंद हो गई हैं. ऑटो सेक्टर में आयी इस मंदी का सबसे बड़ा कारण नॉन - फाइनैंशल कंपनियों की आर्थिक स्थिति का बिगड़ना बताया जा रहा है.

ऑटो संकट: अब हीरो मोटोकॉर्प ने चार दिन के लिए बंद किया कारखाना

First published: 17 August 2019, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी