Home » बिज़नेस » Auto slump: truck manufacturer on the verge of ruin, getting up to 8 lakh discount
 

ऑटो मंदी : बर्बादी की कगार पर ट्रक निर्माता, दे रहे हैं 8 लाख तक का डिस्काउंट

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 August 2019, 11:24 IST

ऑटो कंपनियां मंदी के दौर से गुजर रही हैं. इस दौरान कमर्शियल वाहनों की बिक्री में भी बड़ी गिरावट आयी है, इसलिए ऑटो कंपनियां खरीदारी को प्रेरित करने के लिए भारी छूट देने के लिए मजबूर हैं. बड़े वाणिज्यिक वाहन डीलरों को इस दौरान सबसे ज्यादा मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है, जिसमे सबसे बड़ी गिरावट ट्रकों की बिक्री में आयी है. दो सबसे बड़े वाणिज्यिक वाहन (CV) निर्माताओं टाटा मोटर्स और अशोक लीलैंड अपने 40 से 49 टन के ट्रक में 8 लाख तक की छूट दे रहे हैं.

इस बीच वोल्वो आयशर कमर्शियल व्हीकल्स लिमिटेड और डेमलर इंडिया कमर्शियल व्हीकल्स प्राइवेट लिमिटेड जैसे छोटे प्रतिद्वंद्वी दावा है कि दो प्रमुख ट्रक निर्माताओं द्वारा भारी छूट देने से उनकी खुदरा बिक्री पर भी असर पड़ा है. राजस्थान में पिछले कुछ महीनों में एमएचसीवी की बिक्री में 50% से अधिक की गिरावट दर्ज की गई है. राजस्थान में 40-49 टन के ट्रकों की सबसे अधिक मांग है. हालांकि वर्तमान में स्टील, सीमेंट, भवन निर्माण सामग्री और अन्य सामानों की माल ढुलाई की गतिविधियां भी कम हैं.

क्यों नहीं खरीद रहे लोग वाहन

ऑटो सेक्टर में आयी मंदी का सबसे बड़ा कारण नॉन बैंकिंग कंपनियों में आया संकट है. भारत में अधिकतर वाहनों को इन कंपनियों द्वारा फाइनैंस किया जाता है. रेटिंग एजेंसी ICRA के अनुसार भारत में NBFC ने हाल के वर्षों में वाणिज्यिक और नए दोनों तरह के वाहनों का लगभग 55-60%, 30% यात्री कारों और लगभग 65% दोपहिया वाहनों को फंड किया है.

मिंट की रिपोर्ट के अनुसार राजस्थान में अशोक लीलैंड के कई शोरूम एक 49 टन के ट्रक में बड़ा ऑफर दे रहे हैं. ये ट्रक 25.5 लाख में बेचा जा रहा है जबकि इसकी वास्विक कीमत 32 लाख रूपये है. तीन महीने पहले तक इस ट्रक को 27 लाख में बेचा जा रहा था. कई डीलरों का कहना है कि उन्हों अपने ट्रक ग्राहकों को खो दिया है. इस दौरान ट्रक डीलरों में प्रतिस्पर्धा बढ़ गई है.

कई बड़े डीलरों का कहना है कि ट्रकों की बिक्री में 40-50% की गिरावट आई है. डीलरों का कहना है कि इस साल अगस्त के पहले दो हफ्तों में बुकिंग 50% कम है. वोल्वो आयशर कमर्शियल व्हीकल्स के प्रबंध निदेशक और सीईओ विनोद अग्रवाल ने हाल ही में कहा कि सीवी छूट की प्रवृत्ति ने उनकी कंपनी की बिक्री को प्रभावित किया है. टाटा मोटर्स, अशोक लीलैंड और डेमलर इंडिया ने पिछले दिनों कई दिनों के लिए उत्पादन रोक दिया.

ऑटो संकट : 18 महीनों में देशभर में बंद हुई 286 डीलरशिप

First published: 16 August 2019, 11:17 IST
 
अगली कहानी