Home » बिज़नेस » Aviation Ministry revises the plans for Air India Divestment, Air India is suffering from financial crisis
 

जेट एयरवेज के बाद अब Air India पर संकट, बेचने की तैयारी में सरकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 May 2019, 18:10 IST

भारत में एविएशन इंडस्ट्री को लागातार एक के बाद झटका लग रहा है. अभी इंडस्ट्री जेट एयरवेज के संकट से उबर नहीं पाया कि सरकारी एयरलाइन Air India को बेचने की कयावद शुरू हो गई है. इस एयरलाइन्स पर 55 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है. रिपोर्ट्स के मुताबिक एयर इंडिया को पूरी तरह निजी कंपनी को बेचने की तैयारी चल रही है. इस प्रक्रिया की शुरुआत इसी साल अगस्त या सितंबर महीने में हो सकती है. अब जब केंद्र की मोदी सरकार पूर्ण बहुमत के साथ दूसरी बार लौटी है तो इस मसौदे को अमलीजामा पहनाया जा सकता है. बता दें कि इससे पहले भी सरकार ने एयर इंडिया में स्टेक बेचने की कोशिश की थी लेकिन सफल नहीं हो पाया था.

केंद्र सरकार Air India में 25 प्रतिशत स्टेक अपने पास रखना चाहती थी और 75 फीसदी शेयर बेचना चाहती थी. लेकिन, इस टर्म-कंडीशन की वजह से एयर इंडिया में निवेश करने को कोई निवेशक तैयार नहीं हुआ. क्योंकि अगर कंपनी में किसी का 25 प्रतिशत या इससे अधिक की हिस्सेदारी हो तो वह कंपनी के फैसले को प्रभावित करने की क्षमता रखता है. एयर इंडिया पर 55000 करोड़ का कर्ज है, जिसमें से 30 हजार करोड़ का कर्ज SPV को ट्रांसफर किया जा चुका है.

First published: 24 May 2019, 18:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी