Home » बिज़नेस » Axis Bank's first loss in 20 years, such a huge loss, NPA gave the shock
 

एक्सिस बैंक को 20 सालों में पहली बार हुआ इतना बड़ा घाटा, NPA ने दिया झटका

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 April 2018, 10:47 IST

एनपीए को लेकर विवादों में रहे एक्सिस बैंक को मार्च 2018 में समाप्त तिमाही में 2,188.74 करोड़ रुपये का शुद्घ घाटा हुआ है. बैंक को अपने फंसे कर्ज के लिए प्रावधान काफी ज्यादा बढ़ाने पड़े और मार्च तिमाही के दौरान 7,179.53 करोड़ रुपये का प्रावधान करना पड़ा जबकि पिछले साल की समान तिमाही में उसे इस मद में 2,581.25 करोड़ रुपये का प्रावधान करना पड़ा था. एक्सिस बैंक के इस घाटे को 1998 के बाद से सबसे बड़ा घाटा माना जा रहा है.

पूरे वित्त वर्ष 2017-18 में बैंक का शुद्घ मुनाफा 92.5 फीसदी घटकर 275.68 करोड़ रुपये रहा. इससे पिछले वित्त वर्ष में बैंक को 3,679.28 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था. मार्च तिमाही में ऐक्सिस बैंक का एनपीए बढ़कर कुल लोन का 6.77 फीसदी तक पहुंच गया. बैंक का कहना है कि इस तिमाही के बैड लोन में पावर सेक्टर का हिस्सा 40 प्रतिशत है.

हाल ही एक्सिस बैंक में सामने आयी गड़बड़ियों के मद्देनजर एक्सिस बैंक की प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (एमडी और सीईओ) शिखा शर्मा का कार्यकाल अब आगामी दिसम्बर में ख़त्म हो जायेगा.

यानी शिखा शर्मा का कार्यकाल अपने निश्चित समय से तीन महीने ही ख़त्म हो जायेगा. शर्मा पिछले नौ साल से बैंक के शीर्षस्थ पद पर थी. वह इससे पहले आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस के अध्यक्ष पद पर थी और उन्हें 2009 में एक्सिस बैंक में चीफ बनाया गया था.

ये भी पढ़ें : बेटे पर है अब अनिल अंबानी के कारोबार का दारोमदार, दी बड़ी जिम्मेदारी

First published: 27 April 2018, 10:47 IST
 
अगली कहानी