Home » बिज़नेस » Baba Ramdev slams MNCs for HUL's controversial tea ad
 

रेड लेबल चाय के विज्ञापन पर रामदेव ने छेड़ा संग्राम, HUL का किया बहिष्कार

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 March 2019, 15:37 IST

पतंजलि आयुर्वेद के संस्थापक बाबा रामदेव ने एफएमसीजी प्रमुख हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड (एचयूएल) के एक विज्ञापन पर हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि इस विज्ञापन में भारतीय संस्कृति का मजाक उड़ाया गया है. शुक्रवार को ट्विटर पर कंपनी पर निशाना साधते हुए योग गुरु-उद्यमी ने एचयूएल उत्पादों के बहिष्कार का भी आह्वान किया.

रामदेव ने पूछा "भारत के आर्थिक और सांस्कृतिक विकास के लिए बहुराष्ट्रीय कंपनियों का क्या योगदान है?" उन्होंने कहा "भारत की गौरवशाली सांस्कृतिक विरासत पर भद्दे कमेंट करने वाले इन बहुराष्ट्रीय कंपनियों का कद (औकात) क्या है? क्या भारत उनके लिए महज एक बाजार है? उन्होंने हिंदी में एक ट्वीट में कहा, जिसमे #BoycottHindustanUnilever #BoycottHULproducts टैग थे.

रेड लेबल ब्रांड के लिए एचयूएल विज्ञापन में एक व्यक्ति को कुंभ मेले में अपने पिता को छोड़ने का चित्रण किया गया है. लेकिन उस आदमी को अपनी गलती का एहसास हुआ जब एक पिता ने अपने जवान बेटे की देखभाल कर रहा था. वह अपने पिता से मिलने के लिए वापस लौटा जो दो कप चाय के साथ उसका इंतजार कर रहा था.

इस विज्ञापन की सोशल मीडिया पर जमकर आलोचना हुई लेकिन HUL ने एक ट्वीट में कहा कि "@RedLabelChai हमें उन लोगों का हाथ थामने के लिए प्रोत्साहित करता है जिन्होंने हमें बनाया है."

एक अन्य ट्वीट में  बाबा रामदेव ने कहा ''जो हमने की कुम्भ मेले की Advt में देखा है- इनके लिए देश एक बाजार है, हमारे लिये देश एक परिवार है lआज भी करीब 50 लाख करोड़ की अर्थव्यवस्था परइन विदेशी कम्पनियों का कब्ज़ा है, हमे संकल्प ले कर के,इन विदेशी कम्पनियों को अंग्रेजो की तरह भगाना होगा।.''

लंदन में नीरव मोदी के अच्छे दिन: पहनता है 9 लाख की जैकेट, कुत्ते के साथ जाता है दफ्तर

First published: 9 March 2019, 15:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी