Home » बिज़नेस » Bajaj auto is losing the battle on its own roads, small pulsars on the verge of closure
 

अपनी ही सड़कों पर जंग हार रही है बजाज, बंद होने की कगार पर छोटी पल्सर

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 April 2018, 16:26 IST

बजाज ऑटो लिमिटेड विश्व की तीसरी सबसे बड़ी मोटरसाइकिल निर्माता है, लेकिन अब वह अपनी ही घरेलू सड़कों पर प्रतिस्पर्धा हार रही है. साल दर साल जहां इसकी बिक्री ग्रोथ पांच फीसदी बढ़ रही रही थी वहीं मार्च में सम्पन्न वित्त वर्ष में इसे एक फीसदी घाटा सहना पड़ा.

जबकि हीरो मोटोकॉर्प लिमिटेड की मासिक बिक्री में मार्च में सबसे ज्यादा 14% फीसदी का रिकॉर्ड इजाफा हुआ. यहां तक कि टीवीएस मोटर में बिक्री में 26% वार्षिक वृद्धि दर्ज की. दोपहिया वाहनों में सबसे आगे जापान की होंडा मोटरसाइकिल और स्कूटर इंडिया प्राइवेट रही. लिमिटेड ने वार्षिक बिक्री में 22% की वृद्धि दर्ज की.

 

पल्सर का सबसे छोटा सदस्य बंद होने की कगार पर 

बजाज ऑटो ने पल्सर 135 को अपनी आधिकारिक वेबसाइट से भारत के लिए हटा दिया है. बजाज के डीलर्स का कहना है कि बाजार में अब इस बाइक पल्सर 135 की बिक्री पिछले कुछ महीनों से लगातार कम रही है. कुछ महीनों पहले कंपनी ने नए अपडेट पल्सर 135 को बेहतर रंग योजनाओं के साथ पेश किया था, लेकिन इससे इसके पक्ष में काम नहीं किया गया था.

135 बजाज पल्सर 135 में 134.6 सीसी, सिंगल सिलेंडर, एयर-कूल्ड इंजन और पाँच-स्पीड ट्रांसमिशन सिस्टम है. बजाज पल्सर 135 की ब्रेकिंग सिस्टम में 240 मिमी डिस्क ब्रेक के साथ फ्रंट में 130 मिमी ड्रम ब्रेक है. हालंकि अभी बजाज ने इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की है.

हालांकि बजाज ऑटो ने हाल ही में अपने सभी मॉडल रेंज में कीमतों में बढ़ोतरी की है. कंपनी के एंट्री लेवल कम्यूटर प्लैटिना कॉमोरटेक ने कम से कम 500 रुपये का इजाफा किया है, फ्लैगशिप डोमिनार की कीमत में 2000 रुपये में अधिकतम की वृद्धि की है.

ये भी पढ़ें : 

First published: 6 April 2018, 16:16 IST
 
अगली कहानी