Home » बिज़नेस » Bank NPA: 40 Chartered Accountant On RBI scaner, done illegal work
 

बैंक NPA : RBI की पकड़ में आये 40 चार्टर्ड अकाउंटेंट, किया गैर कानूनी काम

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 April 2018, 15:16 IST

बैंकों का एनपीए लगातार बढ़ता जा  रहा है, ऐसे में आरबीआई उन कंपनियों से जुड़े लोगों की भूमिका की जांच कर रहा है जिन्होंने प्रमोटर्स के साथ साठगांठ कर बैड लोन बढ़ाने में मदद की है. एक रिपोर्ट ले अनुसार आरबीआई ने ऐसे करीब 3 दर्जन ऐसे चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) पर है. आरबीआई कई कंपनियों के लोन डिफॉल्ट में 35 से 40 सीए की भूमिका की जांच कर रहा है. आरबीआई के पास इस बात के सबूत हैं कि इन सीए ने कंपनियों को गैरकानूनी तरीके से मदद की.

भारतीय रिज़र्व बैंक के नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के फंसे हुए कर्जे में सबसे बड़ी हिस्सेदारी कॉर्पोरेट ऋण की है.

आंकड़ों के मुताबिक यह हिस्सेदारी लगभग तीन चौथाई है. आंकड़ों के मुताबिक सरकारी बैंकों का कुल 6.41 लाख करोड़ रुपये का कर्ज फंसा हुआ है. इसमें उद्योग जगत की हिस्सेदारी चार लाख 70 हजार करोड़ के करीब है. यह बैंकों द्वारा दिए गए कुल कर्ज का करीब 37 फीसदी है.

आंकड़ों के मुताबिक कर्ज में 22.83 फीसदी हिस्सेदारी रखने वाले रीटेल सेक्टर में एनपीए का आंकड़ा केवल 3.71 फीसदी (23,795 करोड़ रु) है. इसके अलावा कृषि क्षेत्र में यह नौ फीसदी और सेवा क्षेत्र में 13.21 फीसदी है.

First published: 8 April 2018, 15:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी