Home » बिज़नेस » Bank of Baroda shares fall 10% after the government announced its merger with Vijaya Bank and Dena Bank
 

मर्जर की घोषणा के बाद बैंक ऑफ बड़ौदा के शेयरों में आयी बड़ी गिरावट

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 September 2018, 11:38 IST

सरकार द्वारा विजया बैंक और देना बैंक के विलय की घोषणा के बाद बैंक ऑफ बड़ौदा के जोरदार गिरावट आयी है. बीओबी शेयर 10% घटकर 122 रुपये हो गए जबकि विजया बैंक का शेयर 3.3% बढ़ गए और देना बैंक के 20% बढ़कर 19.10 रुपये हो गए. फिलिप कैपिटल ने अपने निवेशकों को एक नोट में कहा, "कमजोर बैंक (देना) के साथ दो मजबूत बैंकों (बीओबी और विजया) के विलय से मजबूत बैंक के अल्पसंख्यक शेयरधारक के हित को दूर रखते हुए देना बैंक के लिए एक बकाया पैकेज की तरह लगता है."

बैंक ऑफ बड़ौदा ने पिछले वर्ष 1383 करोड़ रुपये के मुनाफे के मुकाबले वित्तीय वर्ष 2018 में 2,432 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा दर्ज किया था. ग्रॉस एनपीए एक साल पहले 10.5% के मुकाबले 12.3% थी. देना बैंक ने पिछले साल 863.60 करोड़ रुपये के मुकाबले 1,923.20 करोड़ रुपये का नुकसान दर्ज किया था, जबकि ग्रॉस एनपीए 16.3% से 22% पर था. इसी तरह विजया बैंक ने वित्तीय वर्ष 2018 में 727 करोड़ रुपये के लाभ एक साल पहले 750.50 करोड़ घाटा दर्ज किया था. सकल एनपीए पिछले साल 6.6% से 6.3% पर था.

 

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सरकार कमजोर बैंकों का विलय नहीं करने के लिए सावधान है. उन्होंने कहा, "दो मजबूत बैंक विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी बैंक बनाने के लिए तीसरे बैंक को अवशोषित कर सकते हैं. पीटीआई के अनुसार वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार ने राजधानी में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि तीनों बैंकों के निदेशक मंडल विलय प्रस्ताव पर विचार करेंगे. इस विलय से बैंकों परिचालन क्षमता और ग्राहकों को मिलने वाली सेवा बेहतर होगी.

उन्होंने कहा कि विलय के बाद अस्तितव में आने वाला बैंक तीसरा सबसे बड़ा बैंक होगा. कुमार ने कहा कि नेटवर्क, कम-लागत जमा और अनुषंगी (सब्सिडियरी) इकाइयों के मामले में बेहतर तालमेल होगा.

ये भी पढ़ें : Volkswagen इस वजह से वापस मंगा रही है अपनी मशहूर Polo और Vento कारों को

First published: 18 September 2018, 11:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी