Home » बिज़नेस » Bharti Airtel plans $2.4 billion push for 4G in Africa
 

भारत में Jio से टक्कर मिलने के बाद अफ्रीका में छा जाने को तैयार है एयरटेल, करेगी बड़ा निवेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 January 2019, 12:15 IST

अपने भारतीय वायरलेस व्यवसाय में दबाव के बाद भारती एयरटेल लिमिटेड ने अपनी अफ्रीका इकाई को दोगुना करने का फैसला किया है. कंपनी पूरे महाद्वीप में अपने हाई स्पीड वाले 4जी डेटा नेटवर्क का विस्तार करने के लिए 2.4 बिलियन डॉलर का निवेश कर सकती है. एक रिपोर्ट के अनुसार कंपनी अब अफ्रीका में 4जी में लीड करना चाहती है. 4जी सेवाओं के विस्तार के लिए भारती 2-3 साल में लगभग 700-800 मिलियन डॉलर खर्च करेगी और यह पैसा अफ्रीका परिचालन से ही आएगा.

एयरटेल अफ्रीका महाद्वीप में 14 देशों में भारती एयरटेल के संचालन के लिए होल्डिंग कंपनी है, वर्तमान में इनमें से 10 देशों में 4जी सेवाएं प्रदान करती है. महाद्वीप में अपने 4जी का विस्तार करके भारती एयरटेल अपने मुख्य महाद्वीपीय प्रतिद्वंद्वी दक्षिण अफ्रीका के MTN को टक्कर देना चाहती है. भारती ने 2010 में 10.7 बिलियन डॉलर में कुवैत स्थित ज़ैन के अफ्रीका संचालन को खरीदकर अफ्रीका में अपनी उपस्थिति स्थापित की.

एमटीएन अफ्रीका में बहुत मजबूत है. लेकिन भारती एक राजस्व के आधार पर आगे है. यह नाइजीरिया में नंबर दो पर है. कंपनी अफ्रीका में हर देश में नंबर एक या मजबूत नंबर दो का लक्ष्य तय कर रही है. पिछले कुछ वर्षों में, भारती एयरटेल अफ्रीकी बाजार में विस्तार करने की कोशिश कर रही है. इसने अब तक युगांडा, कांगो ब्रेज़ाविल और केन्या में तीन छोटे अधिग्रहण किए हैं. अक्टूबर 2017 में एयरटेल ने घाना में अपने संचालन को मिलाने के लिए Ticom ब्रांड का संचालन करने वाले मिलीकॉम के साथ एक समझौता किया.

उस वर्ष दिसंबर में एयरटेल की रवांडा इकाई ने टिगो रवांडा लिमिटेड के अधिग्रहण की घोषणा की, जिससे एयरटेल अफ्रीकी राष्ट्र का दूसरा सबसे बड़ा दूरसंचार ऑपरेटर बन गया. अब तक भारती एयरटेल ने अफ्रीका में 8 बिलियन डॉलर के करीब निवेश किया है. फरवरी 2018 में कंपनी ने कहा कि यह अफ्रीका के कारोबार के लिए एक आईपीओ पर विचार करेगा. अक्टूबर में कंपनी ने कहा कि वारबर्ग पिंकस, टेमासेक, सिंगटेल और सॉफ्टबैंक ग्रुप इंटरनेशनल सहित छह निवेशक एयरटेल अफ्रीका में प्राथमिक इक्विटी जारी करने के माध्यम से 1.25 बिलियन डॉलर का निवेश करेंगे.

सितंबर तिमाही में एयरटेल अफ्रीका का राजस्व पहले वर्ष में 743 मिलियन डॉलर से 11% बढ़कर 824 मिलियन डॉलर हो गया. पिछले वर्ष की इसी अवधि में तिमाही के दौरान डेटा ग्राहकों की संख्या 6.6 करोड़ 20.5 मिलियन से बढ़कर 27.1 मिलियन हो गई. भारती एयरटेल 31 जनवरी को दिसंबर तिमाही के लिए कमाई की घोषणा करेगी.

MTN अफ्रीका में अधिकांश देशों में नंबर एक ऑपरेटर है, विशेष रूप से नाइजीरिया, जो महाद्वीप में दूरसंचार सेवाओं के लिए सबसे बड़ा बाजार है. एयरटेल अफ्रीका का लगभग एक-तिहाई परिचालन लाभ इसकी नाइजीरियाई इकाई से आता है. सितंबर तिमाही में एयरटेल का अफ्रीका के परिचालन के लिए पूंजीगत व्यय 106 मिलियन डॉलर था.

भारत में भी भारती एयरटेल ने प्रतिद्वंद्वी रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड को टक्कर देने के लिए योजना बनाई है, पिछले महीने भारती एयरटेल ने अपनी पूंजी संरचना और बैलेंस शीट को मजबूत करने के उद्देश्य से धन उगाहने वाले विकल्पों का पता लगाने और मूल्यांकन करने के लिए एक विशेष समिति का गठन किया. एयरटेल के अन्य प्रतिद्वंद्वी वोडाफोन आइडिया लिमिटेड ने भी, मौजूदा शेयरधारकों के लिए पिछले हफ्ते 25,000 करोड़ के राइट्स इश्यू को मंजूरी दे दी, ताकि कंपनी में फंड्स का इस्तेमाल किया जा सके.

TRAI की चेतावनी के बाद Tata Sky ने लॉन्च किया अपने ग्राहकों के लिए धमाकेदार पैक

First published: 28 January 2019, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी