Home » बिज़नेस » BS-VI fuel will be available in NCR from today, helpful in reducing pollution
 

NCR में आज से मिलेगा BS-VI ईंधन, प्रदूषण को कम करने में है मददगार

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 October 2019, 9:09 IST

हरियाणा में मंगलवार से क्लीनर भारत स्टेज- VI ईंधन या BS-VI ईंधन का का इस्तेमाल शुरू होने जा रहा है. इस कदम से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में वाहनों के प्रदूषण को कम करने में मदद मिलेगी. मंगलवार से राज्य में तेल कंपनियों (ओएमसी) इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IOCL), भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BPCL) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HPCL) के 2,200 रिटेल आउटलेट BS-VI ग्रेड ईंधन की आपूर्ति करेंगे. इसमें हरियाणा के सात जिलों फरीदाबाद, गुरुग्राम, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, झज्जर, पलवल और मेवात सहित एनसीआर को कवर किया गया है.

बीएस- VI ईंधन हानिकारक हाइड्रोकार्बन के स्तर को कम करने में भी मदद करेगा. BS-VI ईंधन की महत्वपूर्ण विशेषताओं में से एक इसकी कम सल्फर सामग्री है. जनवरी 2016 में भारतीय जनता पार्टी की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने मध्यवर्ती स्तर को BS IV मानकों से 2020 तक BS VI मानकों पर ले जाने का निर्णय लिया है.

 

अनुमान के अनुसार BS-IV से BS-VI में शिफ्ट होने से रिफाइनर्स पर 28,000 करोड़ खर्च होंगे और पार्टिकुलेट मैटर (PM) में लगभग 10-20% की कमी करने में मदद मिल सकती है. हवा की गुणवत्ता फेफड़ों के माध्यम से रक्तप्रवाह में प्रवेश करने में सक्षम हवा के प्रत्येक घन मीटर में छोटे कणों की संख्या के आधार पर मापा जाता है. आम आदमी पार्टी (AAP) के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार भी 4-15 नवंबर के दौरान तीसरी बार ऑड-ईवन स्कीम लागू करने की योजना बना रही है. जिसमें विषम और सम संख्या वाली कारें वैकल्पिक दिनों में चलेंगी.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हाल ही में वायु प्रदूषण से निपटने के लिए एक एहतियाती उपाय के रूप में सात सूत्री एजेंडे की घोषणा की. ऑड-ईवन योजना के साथ-साथ, सरकार फेस मास्क भी खरीद रही है, जिसे मुफ्त में वितरित किया जाएगा. इन कदमों से भारत को जलवायु परिवर्तन प्रतिबद्धताओं को हासिल करने में मदद मिलेगी.

भारत अब अमेरिका और चीन के बाद ग्रीनहाउस गैसों का सबसे बड़ा उत्सर्जक है और जलवायु परिवर्तन के लिए सबसे कमजोर देशों में से है. भारत ने 2015 में पेरिस में 195 देशों द्वारा अपनाया गया जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन के लिए अपनी प्रतिबद्धताओं के तहत 2030 तक अपने कार्बन फुटप्रिंट को 33-35% कम करने की योजना बनाई है.

Maruti Suzuki ने लॉन्च की मात्र 3 लाख में ये नई कार, Renault की Kwid से होगी टक्कर

First published: 1 October 2019, 9:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी